Home /News /world /

यूरोप के 50 देशों में ओमिक्रॉन का कहर, WHO की चेतावनी- 2 माह में 50% आबादी में संक्रमण का डर

यूरोप के 50 देशों में ओमिक्रॉन का कहर, WHO की चेतावनी- 2 माह में 50% आबादी में संक्रमण का डर

यूरोप में ओमिक्रॉन संक्रमण को लेकर WHO की चेतावनी
(प्रतीकात्मक फोटो- AP)

यूरोप में ओमिक्रॉन संक्रमण को लेकर WHO की चेतावनी (प्रतीकात्मक फोटो- AP)

Omicron Variant Could infect 50% Europeans:  विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगले 2 महीनों में यूरोप की 50 फीसदी आबादी कोविड-19 से संक्रमित हो सकती है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन में यूरोप के निदेशक हानस क्लूगे ने कहा कि 2022 के पहले सप्ताह में यूरोप में 70 लाख नए केस सामने आए हैं, जो कि पिछले 15 दिनों में दोगुने हो गए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के इस अधिकारी का कहना है कि जिन क्षेत्रों में कोरोना वैक्सीनेशन की दर कम रही है वहां इसका जानलेवा प्रभाव देखने को मिल सकता है, विशेषकर मध्य और पूर्वी यूरोप में.

अधिक पढ़ें ...

डेनमार्क: यूरोप में कोरोना वायरस (Corona Cases in Europe) संक्रमण का कहर जारी है. इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगले 2 महीनों में यूरोप की 50 फीसदी आबादी कोविड-19 (Covid-19) से संक्रमित हो सकती है. इस महामारी के कारण क्षेत्र की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह बाधित हुई हैं. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन में यूरोप के निदेशक
हानस क्लूगे ने कहा कि 2022 के पहले सप्ताह में यूरोप में 70 लाख नए केस सामने आए हैं, जो कि पिछले 15 दिनों में दोगुने हो गए हैं.

क्लूगे ने कहा कि यूरोप के 53 में से 50 देशों में ओमिक्रॉन वेरिएंट पाया गया है और पश्चिमी यूरोप में इसका प्रभाव अधिक है. अगर संक्रमण की यही रफ्तार रही तो, इस रीजन की 50 फीसदी आबादी अगले 6 से 8 सप्ताह में ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित हो जाएगी. उन्होंने इस वेरिएंट के संक्रमण की दर को हैरान करने वाला बताया है.

यह भी पढ़ें: थाईलैंड में अफ्रीकन स्वाइन फीवर मिलने से हड़कंप, लाखों सुअरों को मारने की तैयारी, फिर तबाही मचाएगा यह वायरस?

विश्व स्वास्थ्य संगठन के इस अधिकारी का कहना है कि जिन क्षेत्रों में कोरोना वैक्सीनेशन की दर कम रही है वहां इसका जानलेवा प्रभाव देखने को मिल सकता है, विशेषकर मध्य और पूर्वी यूरोप में. क्लूगे ने गहरी चिंता जताते हुए कहा कि यह वेरिएंट अब पूर्व की ओर प्रसार कर रहा है. हमें इन देशों में इस वेरिएंट का पूर्ण प्रभाव देखना होगा, खासकर उन देशों में जहां कोविड-19 टीकाकरण की दर कम है और इन देशों में
वैक्सीन नहीं लेने वाले लोगों के लिए यह वेरिएंट गंभीर बीमारी का कारण बनेगा.

डेनमार्क में हानस क्लूगे ने कहा कि, हाल के सप्ताह में जब कोविड-19 केसों में विस्फोटक बढ़ोतरी हुई है तो वैक्सीन नहीं लेने वाले लोगों की अस्पताल में भर्ती होने की दर बढ़ गई. क्रिसमस के दौरान यह दर वैक्सीन ले चुके लोगों की तुलना में 6 गुना बढ़ी. कोरोना वैक्सीन ने एक बेहतर सुरक्षा उपलब्ध कराई है जिससे गंभीर बीमारी और मौत का खतरा कम हुआ. वहीं हॉस्पिटल में भर्ती होने की नौबत नहीं आई.
क्योंकि वायरस से संक्रमित होने पर अस्पताल में भर्ती होने की दर में बढ़ोतरी से हेल्थ केयर सिस्टम पर बुरा प्रभाव पड़ता.

Tags: Corona in Europe, Omicron, WHO

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर