लाइव टीवी

कोरोना वायरस से बेपरवाह युवाओं को WHO की चेतावनी- आप भी खतरे से बाहर नहीं

News18Hindi
Updated: March 21, 2020, 10:27 AM IST
कोरोना वायरस से बेपरवाह युवाओं को WHO की चेतावनी- आप भी खतरे से बाहर नहीं
पार्टी करने वाले युवाओं को WHO ने चेतावनी जारी की है.

अमेरिका में इन दिनों वसंत ऋतु की छुट्टियां हैं. ऐसे वक्त में अमेरिकी स्टूडेंट्स कोरोना वायरस के संक्रमण की परवाह किए बिना मौज-मस्ती में लगे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2020, 10:27 AM IST
  • Share this:
समंदर किनारे मौज मस्ती और वसंत ऋतु की छुट्टियों का मजा उठा रहे युवाओं को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी जारी की है. शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से कहा गया कि कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण युवाओं को भी बीमार सकता है, उन्हें भी मार सकता है. इसलिए युवाओं को चाहिए कि इस वक्त वो एकदूसरे से ज्यादा मेलजोल न बढ़ाएं, बुजुर्गों और बीमार व्यक्तियों से दूरी बनाए रखें.

दरअसल अमेरिका में इनदिनों वसंत ऋतु की छुट्टियां हैं. ऐसे वक्त में अमेरिकी स्टूडेंट्स कोरोना वायरस के संक्रमण की परवाह किए बिना मौज-मस्ती में लगे हैं. पिछले दिनों फ्लोरिडा के समंदर के किनारे छुट्टियों का मजा लेते युवाओं की भारी भीड़ देखी गई. इन्हें कोई परवाह नहीं थी कि कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से इस वक्त घर से बाहर निकलना खतरनाक हो सकता है. बीच पर युवाओं की मौज मस्ती करती तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हैं. अमेरिकी स्टूडेंट्स की पार्टी करने वाली ऐसी तस्वीरों को देखकर ही विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से चेतावनी आई है.

WHO की चेतावनी कोरोना वायरस युवाओं को भी बना सकता है बीमार
विश्व स्वास्थ्य संगठन के निदेशक टेड्रोस ने कहा है कि पूरी दुनिया में संक्रमण के 2 लाख 10 हजार से भी ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं. बीमारी की चपेट में आकर 9 हजार लोगों की जान चली गई है. हर दिन के साथ बीमारी की भयावहता बढ़ती जा रही है. ये सही है कि बीमारी ने ज्यादातर बुजुर्गों को अपना शिकार बनाया है लेकिन युवा भी इससे अछूते नहीं हैं. आंकड़े इस बात की गवाही देते हैं कि कई देशों में 50 साल से नीचे के उम्र वाले संक्रमण का शिकार होकर हॉस्पिटल में भर्ती हुए हैं.



WHO के डायरेक्टर जनरल डॉ टेड्रोस ने अपने बयान में कहा है- ‘आज मैं युवाओं को कुछ संदेश देना चाहता हूं. आप अजेय नहीं हो. कोरोना वायरस का संक्रमण आपको हफ्तों के लिए हॉस्पिटल में भर्ती करवा सकता है. यहां तक की आपकी जान ले सकता है. अगर आप बीमार नहीं भी हैं तो आपका यहां-वहां जाना दूसरों के लिए जीवन और मौत का सवाल बन सकता है.’

WHO ने कहा कोरोना वायरस को लेकर पहली बार आई अच्छी खबर
टेड्रोस ने कहा है कि ये अच्छी बात है कि पहली बार ऐसा हुआ है कि चीन के शहर वुहान, जहां से वायरस का संक्रमण पूरी दुनिया में फैला है, वहां गुरुवार को संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है. ये उम्मीद जगाने वाला है. हम आशा करते हैं कि खराब से खराब हालात में भी हम बदलाव ला सकते हैं.

दिसंबर महीने में वुहान में वायरस संक्रमण का पहला मामला सामने आया था. उसके बाद पिछले 19 से 24 घंटों में ऐसा पहली बार हुआ है कि वहां संक्रमण का कोई नया मामला नहीं दिखा है. टेड्रोस ने कहा है कि हमें सावधानी बरतनी चाहिए. स्थितियां उलट भी सकती हैं. लेकिन जिन देशों में संक्रमण के मामले कम हुए हैं वो बाकी दुनिया के लि आशा जगाने वाले हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के निदेशक टेड्रोस ने कहा है कि WHO को उन देशों की चिंता है, जिनका हेल्थ सिस्टम कमजोर है और जहां बीमार और बुजुर्गों की आबादी ज्यादा है. यहां वायरस का ज्यादा खतरनाक असर हो सकता है. उन्होंने कहा है कि महामारी के किसी भी इतिहास के उलट हमारे पास इतनी ताकत होनी चाहिए कि हम उसके असर को कम कर सकें.

विश्व स्वास्थ्य की तरफ से कहा है कि इस वक्त किसी भी तरह की भीड़भाड़ वाले आयोजनों से बचना चाहिए. ये न सिर्फ बीमारी को बढ़ाएगा बल्कि इसे दूरदराज इलाकों तक पहुंचा सकता है.

ये भी पढ़ें:

अमेरिका की टॉप लीडरशिप के नजदीक पहुंचा कोरोना वायरस, उपराष्ट्रपति का स्टाफ संक्रमित
कैंसर से जीत गया लेकिन कोरोना वायरस ने छीनी जिंदगी, सिर्फ 2 हफ्ते में हुई मौत
अमेरिका में शर्मनाक है कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच का तौर तरीका
कोरोना वायरस के संक्रमण का शिकार बना दुनिया का दूसरा कुत्ता, पहले की हो चुकी है मौत
इटली में कोरोना वायरस का कोहराम, चीन से भी ज्यादा हुई मौतें
जानिए निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटकाने पर अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने क्या लिखा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 21, 2020, 10:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर