लाइव टीवी

जापानियों की उम्र लंबी क्‍यों होती है? वैज्ञानिकों ने यह पहेली हल कर ली

News18Hindi
Updated: January 31, 2020, 12:42 PM IST
जापानियों की उम्र लंबी क्‍यों होती है? वैज्ञानिकों ने यह पहेली हल कर ली
जापान में लोग पारंपरिक तौर पर कम से कम 84 साल की उम्र पाते हैं, जो पूरी दुनिया में सबसे ज्‍यादा है.

रिसर्च में नेशनल कैंसर सेंटर जापान के वैज्ञानिकों ने एक लाख जापानियों की खाने पीने की आदत का 15 साल तक निरीक्षण किया. इससे जाहिर हुआ कि जो लोग मीसो और नेटो खाते थे उनके समय से पहले मरने की संभावना दूसरों की तुलना में 10 फीसदी कम थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2020, 12:42 PM IST
  • Share this:
टोक्‍यो. जापानी लोग दुनिया में अपनी टेक्‍नोलॉजी (Technology) के अलावा अपनी लंबी उम्र के लिए भी जाने जाते हैं. अब करीब एक लाख जापानी नागरिकों पर की गई रिसर्च के बाद सामने आ गया है कि उनकी उम्र लंबी क्‍यों होती है. मेल ऑनलाइन के मुताबिक वैज्ञानिकों ने बताया है कि जापानियों की लंबी उम्र का रहस्‍य सूशी और सूप के साथ मीसो पेस्‍ट (Misopaste) और नेटो (Natto) खाना है.

इस खाने में फाइबर और पोटेशियम बहुत ज्‍यादा मात्रा में पाया जाता है और यही उनकी लंबी उम्र का रहस्‍य भी है. इस रिसर्च में नेशनल कैंसर सेंटर जापान (National Cancer Center Japan) के वैज्ञानिकों ने एक लाख जापानियों की खाने पीने की आदत का 15 साल तक निरीक्षण किया. इससे जाहिर हुआ कि जो लोग मीसो और नेटो खाते थे उनके समय से पहले मरने की संभावना दूसरों की तुलना में 10 फीसदी कम थी.

वैज्ञानिकों का कहना था कि इन चीजों में फाइबर और पोटेशियम के साथ अन्‍य ऐसे तत्‍व पाए जाते हैं, जो शरीर में कोलेस्‍ट्रोल को संतुलित रखते हैं. गौरतलब है कि जापान में लोग पारंपरिक तौर पर कम से कम 84 साल की उम्र पाते हैं, जो पूरी दुनिया में सबसे ज्‍यादा है. ज्‍यादातर जापानी अपनी सुबह की शुरुआत मीसो सूप के एक गरम प्‍याले से करते हैं.

ये भी पढ़ें- सऊदी अरब में अब महिलाओं को ताश की प्रतियोगिता में शामिल होने की अनुुुुुमति



             कुवैत : 25 हजार विदेशी सरकारी कर्मचारियों को हटाने का फैसला

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 31, 2020, 12:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर