सऊदी को वैक्सीन भेजने के फैसले पर वहां रह रहे भारतीयों में क्यों है गुस्सा?

सऊदी अरब द्वारा लगाए प्रतिबंधों से सबसे ज्यादा नुकसान भारतीय वर्कर्स को हुआ है. (सांकेतिक फोटो: AP)

सऊदी अरब द्वारा लगाए प्रतिबंधों से सबसे ज्यादा नुकसान भारतीय वर्कर्स को हुआ है. (सांकेतिक फोटो: AP)

सऊदी अरब (Saudi Arabia) में वैक्सीन भेजने के फैसले के बाद वहां रह रहे भारतीय लोगों में गुस्सा है. अंग्रेजी चैनल अल जज़ीरा की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट कहती है कि सऊदी में कोरोना के कारण फ्लाइट बैन (Flights Ban) का सबसे ज्यादा असर भारतीय वर्कर्स पर पड़ा था. उनकी नौकरियां गईं, बिजनेस कॉन्ट्रैक्ट टूटे और न जाने कितनी मुश्किलें हुईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 7:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत इस वक्त दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सिनेशन कार्यक्रम (Vaccination Drive) चला रहा है. सिर्फ अपने देश में ही नहीं बल्कि भारत दूसरे देशों को भी वैक्सीन भेज रहा है. वैक्सीन डिप्लोमेसी (Vaccine Diplomacy) में देश अपने पांव तेजी के साथ जमा रहा है. लेकिन इस बीच खबर आ रही है कि सऊदी अरब (Saudi Arabia) में वैक्सीन भेजने के फैसले के बाद वहां रह रहे भारतीय लोगों में गुस्सा है. अंग्रेजी चैनल अल जज़ीरा की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट कहती है कि सऊदी में कोरोना के कारण फ्लाइट बैन का सबसे ज्यादा असर भारतीय वर्कर्स पर पड़ा था. उनकी नौकरियां गईं, बिजनेस कॉन्ट्रैक्ट टूटे और न जाने कितनी मुश्किलें हुईं.

सऊदी में करीब 26 लाख भारतीय रहते हैं

बीते सितंबर महीने में सऊदी अरब ने भारत सहित कुछ अन्य देशों से फ्लाइट्स की आवाजाही पर रोक लगा दी थी. सऊदी में करीब 26 लाख भारतीय रहते हैं. सरकार के इस निर्णय की वजह से बड़ी संख्या में भारतीय वर्कर्स को महीनों वहीं रुकना पड़ा. इस दौरान उन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा. अब अल जज़ीरा की रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी में भारत के डिप्लोमेटिक मिशन के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर गुस्साए भारतीय वर्कर्स के संदेश आ रहे हैं. उन्होंने सऊदी अरब को वैक्सीन भेजने के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं.

भारतीय दूतावास के ट्विटर पेज पर आ रही प्रतिक्रियाएं
एक व्यक्ति ने भारतीय दूतावास के ट्विटर पेज पर लिखा कि भारत को सऊदी अरब को वैक्सीन नहीं देनी चाहिए क्योंकि उसने फ्लाइट्स बंद कर लाखों वर्कर्स की जिंदगी में मुश्किलें पैदा कर दी थीं. एएफपी पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक फ्लाइट बैन को लेकर भारत सरकार को भी परेशानी हुई थी. रिपोर्ट के मुताबिक एक मीटिंग के दौरान दोनों देशों के अधिकारियों के बीच गर्म तकरार भी हुई. हालांकि इससे दोनों देशों के संबंधों पर कोई खास असर नहीं हुआ.

वैक्सीन भेजकर भारत सरकार देना चाहती है संदेश

एक सूत्र के मुताबिक-भारत द्वारा वैक्सीन की डिलिवरी को फ्लाइट बैन से न जोड़े जाने का सीधा मतलब है कि दोनों देश अच्छे रणनीतिक साझीदार हैं. भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी में ये संदेश भी छुपा है कि सऊदी सरकार को भी भारतीय वर्कर्स की मुश्किलें कम करने पर ध्यान देना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज