ट्रंप ने जताई कश्मीर पर मध्यस्थता की इच्छा, कहा- भारत और पाकिस्तान के अनुरोध पर कराएंगे सुलह

News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 10:16 AM IST
ट्रंप ने जताई कश्मीर पर मध्यस्थता की इच्छा, कहा- भारत और पाकिस्तान के अनुरोध पर कराएंगे सुलह
ट्रंप ने भारत-पाक के बीच सुलह कराने की बात कही है.

ट्रंप (Donald Trump) ने कहा, "हम स्थिति को शांतिपूर्ण करने में मदद कर रहे हैं. दोनों देशों (India and Pakistan) के बीच जबरदस्त समस्याएं हैं, और मैं मध्यस्थता या कुछ और बेहतर करने की पूरी कोशिश करूंगा."

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2019, 10:16 AM IST
  • Share this:
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने फिर से खुद को वाशिंगटन से कश्मीर पर मध्यस्थता करने की स्थिति में बताया है. उनका कहना है कि ये भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच तनाव कम करने की दिशा में काम करेगा. ट्रंप ने कहा, "हम स्थिति को शांतिपूर्ण करने में मदद कर रहे हैं. दोनों देशों के बीच जबरदस्त समस्याएं हैं, और मैं मध्यस्थता या कुछ और बेहतर करने की पूरी कोशिश करूंगा," इस तरह अब अमेरिका ने मध्यस्थता के लिए नए सिरे से अपने करदार को स्पष्ट किया है.

अमेरिका निभाना चाहता है बड़ा किरदार

न्यूज़18 के एक सवाल के जवाब में अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा, "राष्ट्रपति ट्रंप ने दोनों प्रधानमंत्रियों, इमरान खान और नरेंद्र मोदी को अपने कॉल में तनाव कम करने की दिशा में काम करने की आवश्यकता पर जोर दिया है, जबकि कश्मीर दोनों पक्षों के लिए चर्चा करने के लिए एक द्विपक्षीय मुद्दा है. राष्ट्रपति दोनों देशों द्वारा अनुरोध किए जाने पर सहायता करने को तैयार हैं. भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव को कम करने और बातचीत के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका की लंबे समय से रुचि है."

पीएम मोदी और इमरान खान (पुरानी तस्वीर)


पीएम मोदी की फ्रांस में ट्रंप से होगी मुलाकात

भारत में अब करीब पांच दशकों से लगातार स्थिति है कि इस मामले पर केवल द्विपक्षीय चर्चा होगी और किसी तीसरे पक्ष के दखल को स्वीकार नहीं किया जाएगा. ये भारत द्वारा पिछले महीने संसद में भी दोहराया गया था. अमेरिकी विदेश विभाग की ओर से ये स्पष्टीकरण महत्वपूर्ण है, क्योंकि पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बिरिट्ज़, फ्रांस में मिलने की उम्मीद है, जहां भारत को जी -7 शिखर सम्मेलन के लिए 'बियारिट्ज़ साथी' के तौर पर फ्रांसीसी राष्ट्रपति द्वारा आमंत्रित किया गया है. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि वो पीएम मोदी के साथ कश्मीर पर चर्चा करेंगे.

फ्रांस में होगी दोनों नेताओं के बीच मुलाकात.

Loading...

हालांकि, अमेरिकी विदेश विभाग ने व्हाइट हाउस से बयान जारी किया है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी और उसके बाद 19 अगस्त को पीएम इमरान खान को अपने फोन कॉल के माध्यम से मध्यस्थ के रूप में कार्य करने के संकेत दिए हैं, एक दिन पहले एक बार फिर कश्मीर के संदर्भ में उन्होंने मध्यस्थता शब्द का इस्तेमाल किया था.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ट्रंप के बयान को किया था खारिज

23 जुलाई को लोकसभा में एक डिनर के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दो बार एक ही बयान दिया था. उनके बयान में इस बात को रेखांकित किया गया था कि कश्मीर पर मध्यस्थता पर भारत की स्थिति पहले वाली ही है, उसमें कुछ बदलाव नहीं आई है. उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पीएम मोदी द्वारा ओसाका में मध्यस्थता के लिए अनुरोध करने के दावे को जोरदार ढंग से खारिज किया था. इसके बाद जयशंकर ने कहा, "मैं यह भी कहूंगा कि यह भारत की स्पष्ट स्थिति है कि पाकिस्तान के साथ सभी मुद्दों पर द्विपक्षीय रूप से ही चर्चा की जाएगी."

इसे भी पढ़ें -पाकिस्तान के मंत्री ने दी भारत को धमकी, कहा- हमला किया तो आंखें निकाल लेंगे 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 10:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...