जॉर्ड फ्लॉयड केस: लम्हों को याद कर कोर्ट में रो पड़ी चश्मदीद गवाह, कहा- मुझे मदद करने से रोका गया

मई 2020 में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत हो गई थी, जब श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन ने उसकी गर्दन अपने घुटने से दबा दिया था. (Reuters/ June 9, 2020)

मई 2020 में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत हो गई थी, जब श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन ने उसकी गर्दन अपने घुटने से दबा दिया था. (Reuters/ June 9, 2020)

George Floyd Murder: श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन (45) पर नौ मिनट 29 सेकंड तक जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबाने का आरोप है जिससे उसकी मौत हो गई.

  • ए पी
  • Last Updated: March 31, 2021, 2:29 PM IST
  • Share this:
मिनियापोलिस. अमेरिका में मिनियापोलिस की एक दमकलकर्मी ने मंगलवार को अदालत में बताया कि उसे अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मदद करने से रोक दिया गया था. वह बुधवार को फिर से अदालत में बयान दर्ज कराएंगी. पिछले साल मई में श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन को फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबाने से रोकने वालों में से एक जिनेवी हन्सेन मंगलवार को यह याद करते वक्त रो पड़ी कि कैसे वह फ्लॉयड की मदद नहीं कर पाई.

हन्सेन ने कहा, ‘‘वहां एक व्यक्ति को मारा जा रहा था.’’ उन्होंने अपने आपात चिकित्सा प्रशिक्षण के बारे में भी विस्तार से बताया. उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने पूरी क्षमता के अनुसार चिकित्सा मुहैया करा सकती थी और इस इंसान ने ऐसा करने से मना कर दिया.’’ हन्सेन मंगलवार को गवाही देने वाले उन प्रत्यक्षदर्शियों में से एक थीं जिन्होंने 25 मई को फ्लॉयड की मौत की घटना देखी थी.

एक के बाद एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि कैसे चौविन ने फ्लॉयड को छोड़ने की उनकी मिन्नतों को ठुकरा दिया. इनमें वह युवती भी शामिल थीं जिसने फ्लॉयड की गिरफ्तारी का वीडियो बनाया था जिससे देशभर में प्रदर्शन शुरू हो गए थे. 18 वर्षीय डार्नेला फ्रेजियर ने कहा, ‘‘उसे परवाह नहीं थी. ऐसा लग रहा था कि हम जो कह रहे हैं वह उसकी परवाह नहीं कर रहा.’’

गौरतलब है कि चौविन (45) पर नौ मिनट 29 सेकंड तक फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबाने का आरोप है जिससे उसकी मौत हो गई. चौविन के खिलाफ सबसे गंभीर आरोप साबित होने पर उसे 40 साल तक की जेल की सजा हो सकती है.
चौविन के वकील एरिक नेल्सन ने जवाबी दलील देते हुए कहा, “डेरेक चौविन ने वही किया जो उसके 19 साल के करियर में सिखाया गया था.” नेल्सन ने कहा कि चौविन और उसके साथी पुलिस कर्मियों के आसपास घटना को देख रहे लोगों की भीड़ उग्र होती जा रही थी और फ्लॉयड पुलिस की कार में न बिठाए जाने के लिए संघर्ष कर रहा था. बचाव पक्ष के वकील ने यह भी कहा कि फ्लॉयड की मौत के चौविन जिम्मेदार नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज