Home /News /world /

कोरोना वायरस: साउथ कोरिया से सीख सकते हैं, संक्रमण पर कैसे पाया जाता है काबू

कोरोना वायरस: साउथ कोरिया से सीख सकते हैं, संक्रमण पर कैसे पाया जाता है काबू

साउथ कोरिया में रोज तकरीबन 10000 लोगों का टेस्ट किया गया

साउथ कोरिया में रोज तकरीबन 10000 लोगों का टेस्ट किया गया

साउथ कोरिया (South Korea) को कोरोना वायरस (Coronavirus) का नए संक्रमण रोकने में कामयाबी हासिल हुई है.

    सियोल: साउथ कोरिया (South Korea) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 76 नए मामले सामने आए हैं और संक्रमण की चपेट में आकर 9 लोगों की मौत हुई है. साउथ कोरिया में आश्चर्यजनक तौर पर संक्रमण के नए मामले कम हुए हैं और इसकी चपेट में आकर मरने वालों का आंकड़ा भी कम हुआ है. देश में इस घातक वायरस से अब तक 120 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमित लोगों की संख्या 9,037 पर पहुंच गई है.

    साउथ कोरिया के रोग नियंत्रण एवं बचाव केद्र ने मंगलवार को कहा कि अब तक 171 मामले ऐसे हैं, जो विदेश से संक्रमण लेकर देश आए हैं. यूरोप, उत्तरी अमेरिका और अन्य देशों में प्रकोप के भयावह रूप लेने के बीच अधिकारियों ने संक्रमित लोगों के देश में प्रवेश को रोकने के लिए सीमा नियंत्रण गतिविधि तेज कर दी है.

    देश के करीब 7,700 मामले दक्षिणपूर्वी शहर दाएगू और पड़ोस के इलाकों से सामने आए हैं, जहां हजारों संक्रमित लोग रहस्यमयी चर्च संप्रदाय से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं.

    साउथ कोरिया ने संक्रण को काबू करने में पाई कामयाबी
    साउथ कोरिया को वायरस का नए संक्रमण रोकने में कामयाबी हासिल हुई है. साउथ कोरिया एक उदाहरण बनकर सामने आया है कि कैसे वायरस के संक्रमण से निपटा जाए और इसके साथ ही कैसे अपने हेल्थ केयर सिस्टम और अर्थव्यवस्था पर इसका कम से कम असर हो.

    साउथ कोरिया में फरवरी और मार्च के शुरुआती दिनों में एक दिन में संक्रमण के 900 से ज्यादा मामले सामने आ रहे थे. एक हफ्ते के भीतर संक्रमण के नए मामले आधे होने लगे. इसके अगले हफ्ते संक्रमण के मामले उससे भी आधे रह गए. इस तरह से साउथ कोरिया में संक्रमण के नए मामलों में तेजी से कमी आती गई.

    साउथ कोरिया उन देशों में शामिल रहा, जहां पर चीन के बाद वायरस ने सबसे तेजी से पांव पसारे. लेकिन उसने लोगों के मूवमेंट पर पर प्रतिबंध लगाकर संक्रमण को बढ़ने से थाम लिया. न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक साउथ कोरिया ने लगातार अपनी कार्रवाई में बदलाव किए, ज्यादा से ज्यादा लोगों के संक्रमण जांच की व्यवस्था की, लोगों के एकदूसरे से संपर्क में आने की गहराई से पड़ताल की और अपने नागरिकों को स्वास्थ्य सेवाओं की आसान पहुंच बनाई. इन सबके जरिए साउथ कोरिया संक्रमण के नए मामलों को लगातार कम करता गया.

    दुनिया के बाकी देश लें साउथ कोरिया से सबक
    अब दुनिया के बाकी देश भी साउथ कोरिया से संक्रमण से निपटने पर चर्चा कर रहे हैं. फ्रांस कोरोना वायरस से निपटने के लिए साउथ कोरिया की मदद ले रहा है. वहां के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ने साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन से बात की है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के निदेशक डॉ टेड्रोस ने कहा है कि कोरिया से सबक लेकर बाकी देशों को भी अपने यहां संक्रमण के मामलों में कमी लानी चाहिए.

    जनवरी में जैसे ही कोरोना वायरस के फैलने की बात सामने आई, साउथ कोरिया ने तेजी से काम किया. देश में पहले संक्रमण की जानकारी मिलते ही सरकार ने मेडिकल कंपनियों से बात की और उन्हें तेजी से जांच वाले किट बनाने को कहा. साउथ कोरिया में 10 हजार प्रति दिन की दर से टेस्ट किट बनाए जा रहे हैं. साउथ कोरिया अपने टेस्ट किट 17 देशों को निर्यात करने पर बातचीत कर रहा है.

    ये भी पढ़ें:

    कोरोना वायरस एक्सपर्ट से बुखार का नाम सुनते ही ट्रंप के छूटे पसीने!

    Covid 19: टेस्‍ट की गई वैक्‍सीन रही कारगर तो तुरंत लाखों डोज बना लेगी ये कंपनी

    सरकार ने देश की 12 निजी लैब को दी कोरोना टेस्‍ट की मंजूरी, यहां जानें LISTundefined

    Tags: Corona, Corona Virus, South korea

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर