अपना शहर चुनें

States

दुनिया महामारी के अंत होने का सपना देखने की शुरुआत कर सकती है : UN स्वास्थ्य प्रमुख

WHO के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस. (फाइल फोटो)
WHO के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस. (फाइल फोटो)

WHO के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा कि टीके की तत्काल बड़े पैमाने पर खरीद और वितरण के जमीनी कार्य के लिए 4.3 अरब डॉलर की जरूरत है, इसके बाद 2021 के लिए 23.9 अरब की जरूरत होगी.

  • Share this:
न्यूयॉर्क. संयुक्त राष्ट्र (United Nation) के स्वास्थ्य प्रमुख ने शुक्रवार को घोषणा की कि कोरोना वायरस टीके (Corona Virus Vaccine) के परीक्षणों (Vaccine Trials) के अच्छे नतीजों का मतलब है कि ‘दुनिया, महामारी का अंत होने की उम्मीद कर सकती.’ महामारी के विषय पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के पहले उच्च स्तरीय सत्र को संबोधित करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस ने आगाह किया है कि वायरस को रोका जा सकता है लेकिन ‘आगे का रास्ता अब भी अनिश्चतता से भरा हुआ है’.

हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि समृद्ध और शक्तिशाली देशों को गरीब और वंचितों को ‘टीके की भगदड़’ में कुचलना नहीं चाहिए. उन्होंने कहा कि महामारी ने मानवता का ‘महान और सबसे खराब’ रूप भी दिखाया है. वह महामारी (Pandemic) के दौर में एक-दूसरे के प्रति दिखाई गई करुणा, आत्म बलिदान, एकजुटता और विज्ञान और नवाचार में उन्नति का हवाला देने के साथ ही दिल को दुखा देने वाले स्वहित, आरोप-प्रत्यारोप और बंटवारे का जिक्र कर रहे थे.

यह भी पढ़ें: पहले किन्हें मिलेगी कोरोना वैक्सीन? क्या होगी कीमत? जानें सरकार का पूरा प्लान



मौजूदा समय में मामलों के बढ़ने और मौत का हवाला देते हुए घेब्रेयेसस ने बिना देशों के नाम लिए हुए कहा, ‘जहां विज्ञान कॉन्सपिरेसी थ्योरी में दब गया और एकजुटता की जगह बांटने वाले विचारों, स्वहित ने ले लिया, वहां वायरस ने अपनी जगह बना ली और उसका प्रसार होने लगा.’ उन्होंने अपने ऑनलाइन संबोधन में कहा कि टीका उन संकटों को दूर नहीं करता है कि जो जड़ में बैठे हैं-जैसे कि भूख, गरीबी, गैर बराबरी और जलवायु परिवर्तन (Climate Change). उन्होंने कहा कि महामारी के खात्मे के बाद इससे निपटा जाए.

उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ का ‘एसीटी-एक्सलेरेटर कार्यक्रम खतरे में हैं. घेब्रेयेसस ने कहा कि टीके की तत्काल बड़े पैमाने पर खरीद और वितरण के जमीनी कार्य के लिए 4.3 अरब डॉलर की जरूरत है, इसके बाद 2021 के लिए 23.9 अरब की जरूरत होगी और यह रकम विश्व के सबसे धनी 20 देशों के समूह की ओर से घोषित पैकेजों में 11 ट्रिलियन के एक फीसदी का आधा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज