ईरान को परमाणु हथियार बनाने नहीं देगा अमेरिका, ट्रंप ने कड़े प्रतिबंधों पर किए दस्तख़त, तनाव चरम पर

ईरान को परमाणु हथियार बनाने नहीं देगा अमेरिका, ट्रंप ने कड़े प्रतिबंधों पर किए दस्तख़त, तनाव चरम पर
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

विदेशी मीडिया ने जहां ईरान पर अमेरिका के नए प्रतिबंधों को प्रमुखता से हेडलाइंस बनाया तो वहीं पाक के अखबार डॉन ने हुर्रियत के साथ मोदी सरकार की बातचीत की संभावनाओं पर बीजेपी के विरोध को प्रकाशित किया.

  • Share this:
अमेरिकी मीडिया में ईरान पर अमेरिका के नए प्रतिबंध प्रमुखता से हेडलाइंस बने. वाशिंगटन पोस्ट, वॉल स्ट्रीट जर्नल, न्यूयॉर्क टाइम्स के अलावा गल्फ देशों के न्यूज़ नेटवर्क अल ज़ज़ीरा ने भी अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव को सुर्खियां बनाया.

अमेरिकी मीडिया में छपी रिपोर्टस के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला खामनेई को निशाना बनाते हुए ईरान पर नए और कड़े प्रतिबंध लगाए हैं जिससे दोनों देशों के बीच अब तनाव चरम पर है. रिपोर्ट्स के मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप ने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से कहा कि अमेरिका कभी भी ईरान को परमाणु हथियार नहीं बनाने देगा. ट्रंप ने कहा कि उनके द्वारा हस्ताक्षर किए गए कार्यकारी आदेश से ईरान के सबसे बड़े धार्मिक नेता और दूसरे ग्लोबल वित्तीय सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे.

वाशिंगटन पोस्ट लिखता है कि ट्रंप ने ईरान पर नए प्रतिबंध लगाए और चेताया कि उसका संयम सीमित है.



न्यूयॉर्क टाइम्स लिखता है कि प्रतिबंधों के जरिए ईरान के उच्च अधिकारियों को अंतर्राष्ट्रीय बैंकिंग सिस्टम इस्तेमाल करने से रोकना है लेकिन ये प्रतिबंध प्रतीकात्मक ज्यादा हैं.
दरअसल, हाल ही में खाड़ी देशों में दो तेल टैंकरों में धमाके और फिर अमेरिकी ड्रोन को गिराए जाने के बाद दोनों देशों के बीच युद्ध के हालात पैदा हो गए है. अमेरिकी ड्रोन गिराए जाने के तुरंत बाद ही ट्रंप ने ईरान पर हमले का आदेश जारी कर दिया था लेकिन हमले से मात्र 10 मिनट पहले ही आदेश वापस ले लिया था.

वहीं द गार्डियन ने अमेरिकी प्रतिबंध के बाद ईरान की प्रतिक्रिया को हेडलाइंस बनाया है. द गार्डियन के मुताबिक ईरान ने कहा है कि अमेरिका ने प्रतिबंध लगाकर क्षेत्र में कूटनीतिक रास्तों को हमेशा के लिए बंद कर दिया है. साथ ही ईरान ने अमेरिका पर क्षेत्र में शांति और सुरक्षा को तबाह करने का आरोप लगाया है.

डॉन – हुर्रियत की बातचीत की उम्मीदों पर पानी फेरती बीजेपी
पाकिस्तान के मशहूर अखबार और वेबसाइट डॉन ने मोदी सरकार और हुर्रियत के बीच बातचीत की संभावनाओं को प्रकाशित किया है. डॉन लिखता है कि भारतीय जनता पार्टी ने हुर्रियत के साथ मोदी सरकार की बातचीत का विरोध किया है और वो इसे सही कदम नहीं मानती है. डॉन लिखता है कि हुर्रियत की बातचीत की उम्मीदों पर बीजेपी पानी फेरने का काम कर रही है.

बीजेपी का मानना है कि हुर्रियत के साथ बातचीत करने से आतंकवाद विरोधी तरीकों को नुकसान पहुंचेगा. जम्मू-कश्मीर बीजेपी के प्रवक्ता अनिल गुप्ता ने कहा कि, ‘ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप और हुर्रियत को सार्वजनिक रूप से जम्मू-कश्मीर की निर्विवाद स्थिति को स्वीकार करना चाहिये और यह जान लेना चाहिए कि ये भारत का अभिन्न अंग है. वहीं डॉन ये भी लिखता है कि हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक ने कहा है कि अगर दिल्ली से सार्थक बातचीत की पहल होती है तो उसकी सकारात्मक प्रतिक्रिया होगी.

यूरोप में गर्म हवा के कहर से बचने की अपील
द गार्डियन ने यूरोप में तेज़ गर्मी और लू को लेकर चेतावनी जारी की है. द गार्डियन की एक रिपोर्ट के मुताबिक यूरोप में एक सप्ताह से ज्यादा समय तक लू चलेगी और पारा 40 डिग्री के पार जा सकता है. स्पेन से स्विटज़रलैंड तक गर्मी अपना असर दिखाएगी. ऐसे में स्थानीय प्रशासन ने सभी बुज़ुर्गों और बच्चों से इस दौरान घरों में रहने की अपील की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading