Home /News /world /

अंतरिक्ष में दौड़ेगी कार, दुनिया का सबसे ताकतवर रॉकेट लॉन्च

अंतरिक्ष में दौड़ेगी कार, दुनिया का सबसे ताकतवर रॉकेट लॉन्च

अमेरिका की निजी एयरोस्पेस और अंतरिक्ष यातायात निर्माता कंपनी स्पेस X ने दुनिया का सबसे ताकतवर रॉकेट लॉन्च किया. 27 इंजन वाला ये रॉकेट कई मायनों में बेहद खास है.

अमेरिका की निजी एयरोस्पेस और अंतरिक्ष यातायात निर्माता कंपनी स्पेस X ने दुनिया का सबसे ताकतवर रॉकेट लॉन्च किया. 27 इंजन वाला ये रॉकेट कई मायनों में बेहद खास है.

अमेरिका की निजी एयरोस्पेस और अंतरिक्ष यातायात निर्माता कंपनी स्पेस X ने दुनिया का सबसे ताकतवर रॉकेट लॉन्च किया. 27 इंजन वाला ये रॉकेट कई मायनों में बेहद खास है.

    अमेरिका की निजी एयरोस्पेस और अंतरिक्ष यातायात निर्माता कंपनी स्पेस X ने दुनिया के सबसे ताकतवर रॉकेट को लॉन्च कर दिया है. 27 इंजन वाला ये रॉकेट कई मायनों में बेहद खास है. लोगों में इस रॉकेट की लॉन्चिंग को लेकर खूब उत्साह देखा गया.

    बीते दिसंबर को स्पेस X कंपनी के चीफ एक्ज़िक्यूटिव एलोन मस्क ने ऐलान किया था कि फॉल्कन हैवी रॉकेट उनकी टेस्ला रोडस्टर स्पोर्ट्स कार को अंतरिक्ष में उतारेगा. स्पेस एक्स के मुताबिक फॉल्कन हैवी रॉकेट दुनिया का सबसे ताकतर ऑपरेशनल रॉकेट है. लॉन्चिंग से पहले फॉल्कन स्टैटिक फायर टेस्ट से गुजरा था. टेस्टिंग के दौरान एक बार स्टैटिक फायर होने के बाद सभी 27 मर्लिन 1D इंजन साथ काम किया.



    क्यों ख़ास है फॉल्कन हैवी?
    स्पेस-X ने अपने इस रॉकेट को टेस्ला स्पोर्ट्स कार के साथ रॉकेट लॉन्च किया. ये लॉन्चिग अमेरिका के फ्लोरिडा में स्थित केप कनवेरल से हुई. इस रॉकेट में 27 मर्लिन 1D इंजन लगे हुए हैं, जिन्होंने 50 लाख पाउंड की ताकत पैदा की.

    दूसरे शब्दों में समझें तो 18 एयरक्राफ्ट-747 के बराबर की शक्ति पैदा होगी. ये रॉकेट 57 टन यानि 57 हजार किलोग्राम वज़न उठाने में सक्षम है. इसकी कुल लंबाई 70 मीटर है. इस रॉकेट की लंबाई 23 मंज़िला इमारत के बराबर है, जो अपने आप में किसी करिश्मे से कम नहीं है.

    तीन हिस्सों में बंटा है रॉकेट
    तकनीकी रूप से रॉकेट को तीन हिस्सों में विभाजित किया गया है. पहले हिस्से में लैडिंग लैग और ग्रिड पंख हैं, जो लैंडिंग करते वक्त रॉकेट की मदद करेगा. इसे रॉकेट का फर्स्ट स्टेज कहा जाता है. इसके बाद नंबर आता है इंटर स्टेज अडप्टर का, जो पहले और दूसरे स्टेज के बीच का हिस्सा होता है.

    दूसरे स्टेज की बात करें तो ये सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. इसमें पेलोड फ़ेयरिंग शामिल होता है. ये वही हिस्सा है, जहां उपग्रह और ज़रूरी चीज़ें रखी होती हैं जिन्हें अंतरिक्ष में लॉन्च करना होता है. इस पहले लॉन्च में स्पेस-X कंपनी टेस्ला की रोडस्टर स्पोर्ट्स कार को मंगल की कक्षा में उतारेगी.

    क्यों ख़ास है टेस्ला रोडस्टर?
    इलेक्ट्रिक कार मेकर टेस्ला का दावा है कि वो ये कार दुनिया की सबसे तेज़ कार है. इसकी तेजी ही इसका रिकॉर्ड है. कंपनी का दावा है कि 0 से 60 mph की रफ्तार ये कार महज़ 1.9 सेकेंड में छू लेती है. इसकी टॉप स्पीड +250mph है. एक बार चार्ज होने के बाद ये कार 620 मील तक का सफ़र तय करती है. लेकिन ये सभी खूबियां अंतरिक्ष में कोई मायने नहीं रखती क्योंकि वो अब 0 गुरुत्वाकर्षण में सफ़र करेगी.

    Tags: Elon Musk, Tesla car

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर