लाइव टीवी

कोरोना वायरस के पेशेंट ज़ीरो का पता चला, वुहान की इस मछली विक्रेता से फैलना शुरू हुआ संक्रमण!

News18Hindi
Updated: March 29, 2020, 8:30 AM IST
कोरोना वायरस के पेशेंट ज़ीरो का पता चला, वुहान की इस मछली विक्रेता से फैलना शुरू हुआ संक्रमण!
जनवरी के बाद मंगलवार को पहली बार चीन में कोरोना से एक भी मौत दर्ज नहीं हुई.

अब दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने वाले दुनिया के पहले इंसान का पता लगा लिया गया है. ये एक महिला है, जो झींगा मछली (Shrimp) बेचती है और इसका संक्रमण बिलकुल ठीक हो गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 29, 2020, 8:30 AM IST
  • Share this:
बीजिंग. दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से हो रहीं मौतों का आंकड़ा 30 हजार के पार जा चुका है. चीन (China) के वुहान (Wuhan) शहर से ये संक्रमण पूरी दुनिया में फैला और अब यूरोप और अमेरिका (USA) इसके सबसे बड़े शिकार बन गए हैं. हालांकि अब दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले दुनिया के पहले शख्स का पता लगा लिया गया है. ये एक महिला है, जो झींगा मछली (Shrimp) बेचती है और इसका संक्रमण बिलकुल ठीक हो गया था.

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के वुहान शहर में रहने वाली 57 वर्षीय वेई गायक्सियन को कोरोना संक्रमण के मामले में 'पेशेंट जीरो' बनाया गया है. इस महिला को इस संक्रमण की पहली शिकार बताया जा रहा है. ये महिला इस संक्रमण का शिकार होने के बाद महीनों तक अस्पताल में रही और जनवरी में ही पूरी तरह ठीक हो गयी थी. रिपोर्ट के मुताबिक वेई हुन्नान प्रांत के मछली बाज़ार में झींगा बेचती हैं और बीती 10 दिसंबर को ये कोरोना संक्रमण की शिकार हुई थीं.

वेई को लगा था ये कॉमन फ्लू है
मिरर में छपी एक खबर के मुताबिक वेई ने इसे कॉमन फ्लू समझा था, क्योंकि उन्हें सर्दी-जुकाम हुआ था. वे एक स्थानीय क्लीनिक गयीं जहां उन्हें फ्लू की दवाएं ही दी गयीं थीं. जब इन दवाओं से फायदा नहीं हुआ तो वेई अगले दिन वुहान के इलेवंथ अस्पताल में गयीं. हालांकि यहां भी उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ तो उन्हें 16 दिसंबर को वुहान के सबसे बड़े अस्पताल वुहान यूनियन हॉस्पिटल ले जाया गया. बाद में अस्पताल में सामने आया कि सिर्फ वेई ही नहीं हुन्नान के बाज़ार में काम करने वाले कई लोग बीते दो-तीन दिनों में इसी तरह की शिकायत के साथ अस्पताल आए हैं. दिसंबर के आखिर तक डॉक्टर्स को इस संक्रमण की जानकारी मिली और फिर सभी को क्वारंटीन किया गया.



लैंसेट जनरल का दावा अलग


हालांकि कोरोना के पेशेंट जीरो को लेकर पहले भी अलग-अलग दावे किए जाते रहे हैं. लैंसेट मेडिकल जनरल के मुताबिक COVID-19 का पहला मरीज 1 दिसंबर को चीन के वुहान में सामने आ चुका था. यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिडनी के प्रोफ़ेसर एडवर्ड होम्स के मुताबिक भी पेशंट जीरो को लकर दावा करना काफी पेचीदा काम है. हालांकि वेई जब अस्पताल पहुंची थी तो उन्होंने दावा किया था कि उन्हें ये बीमारी मीट मार्केट में शेयरिंग टॉयलेट इस्तेमाल करने से हुई है. इस मार्केट से 24 कोरोना संक्रमण से केस सामने आए थे जो कि काफी शुरूआती दिनों के थे. वेई का मनना है कि सरकार ने अगर इस बीमारी को लेकर जल्दी कदम उठाए होते तो मौतें कम होतीं.

शनिवार को आंशिक रूप से खुला वुहान
1.1 करोड़ जनसंख्या वाला शहर वुहान दो महीने से भी अधिक समय तक पूरी तरह अलग-थलग रहने के बाद शनिवार को आंशिक रूप से खुला. वुहान शहर में जनवरी में लॉकडाउन लगाया गया था और वहां के बाशिंदों को शहर छोड़ने पर रोक लगा दी गयी थी. शहर के बाहरी इलाकों में सड़क अवरोधक रिंग लगा दिये गये थे. रोजमर्रा की जिंदगी पर कड़ी बंदिशें लगा दी गयी थीं. लेकिन अब बड़े परिवहन एवं औद्योगिक केंद्रों से अलग -थलग के समापन के संकेत मिलने लगे हैं. सरकारी मीडिया में आधी रात को आधिकारिक रूप से मंजूरी प्राप्त पहली ट्रेन शहर में दाखिल होती हुई दिखायी गयी. रेलवे स्टेशन पर शनिवार को यात्रियों की भीड़ नजर आयी.

 

यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस: क्या है चीन के पड़ोसी मुल्कों का हाल

कोरोना वायरस: लॉकडाउन में बढ़ीं थैलेसीमिया मरीजों की मुश्किलें, नहीं मिल पा रहा खून

Coronavirus: पास बैठे तो 6 महीने की कैद या भरना पड़ सकता है लाखों का जुर्माना

Coronavirus: ये टेस्ट बताएगा भारत में कोरोना के मरीजों की असल संख्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 8:16 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading