• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • इंटरनेट की चपेट में 1.40 लाख युवा, लत छुड़ाने के लिए बनाए गए कैंप

इंटरनेट की चपेट में 1.40 लाख युवा, लत छुड़ाने के लिए बनाए गए कैंप

साउथ कोरिया में 1.40 लाख युवा इंटरनेट की चपेट में (प्रतीकात्मत तस्वीर)

साउथ कोरिया में 1.40 लाख युवा इंटरनेट की चपेट में (प्रतीकात्मत तस्वीर)

साउथ कोरिया सरकार के पिछले आंकड़ों के मुताबिक, एक लाख 40 हजार से ज्यादा युवा इंटरनेट की चपेट में हैं. इसकी लत छुड़ाने के लिए युवाओं को इसके दुष्प्रभाव के बारे में बताया जा रहा है.

  • Share this:
    दक्षिण कोरिया इंटरनेट की स्पीड के मामले में दुनिया सबसे तेज है. यहां हर व्यक्ति के पास स्मार्टफोन और इंटरनेट की सुविधा है. लेकिन इंटरनेट की यह लत युवाओं को मानसिक और शारीरिक रूप से बीमार बना रही है. एक रिपोर्ट मुताबिक, इस लत को छुड़ाने के लिए देशभर में कई ऐसे केंद्र खोले गए हैं, जहां युवाओं को इसके दुष्प्रभाव के बारे में बताया जा रहा है. इसके लिए स्कूलों में भी स्पेशल प्रोग्राम भी शुरू किया गया है.

    साउथ कोरिया सरकार के पिछले आंकड़ों के मुताबिक, एक लाख 40 हजार से ज्यादा युवा इंटरनेट की चपेट में हैं. नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) के अनुसार, किसी चीज की लत तब लगती है जब उस व्यक्ति को खुद पर नियंत्रण नहीं होता. अक्सर इंटरनेट से जुड़ा रहना लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से बीमार करता है. वह चिड़चिड़े होने लगते हैं और उस व्यक्ति के व्यवहार में बदलाव आने लगता है.

    इंटरनेट की वजह से युवाओं की ये हालत

    कोरिया में इंटरनेट की लत के कारण लाखों युवा मानसिक और शारीरिक दौर से गुजर रहे हैं. इससे छुटकारा पाने के लिए बड़ी संख्या में युवा कैंपों में जा रहे हैं. कैंपों में युवाओं को ऑनलाइन वर्ल्ड से कैसे दूरी बनाए जाए, इसकी तकनीक सिखाई जा रही है. मुजु शहर के कैंप अपनी लत छुड़ानी गई 17 वर्षीय हावों के अनुसार, उसे यूट्यूब देखे की बुरी लत थी. मैं 18-18 घंटे यूट्यूब पर समय बिताती थी. इसकी वजह से मैं अक्सर चिड़चिड़ी और तनाव में रहने लगी. इससे मेरी पढ़ाई भी प्रभावित हो रही थी.

    South Korea, Internet addiction, Youth sick, you tube, youtube, Internet speed, दक्षिण कोरिया, इंटरनेट, युवा, बीमार
    दक्षिण कोरिया में इंटरनेट की स्पीड सबसे तेज


    इस कैंप ने अब तक 1200 युवाओं की छुड़ाई लत

    हावों ने कहा कि इस लत से छुटकारा पाने के लिए उसने कैंप जाने की योजना बनाई. इस कैंप में 2014 से अब तक 1200 से ज्यादा युवा यहां अपनी लत छुड़ाने आ चुके हैं. यहां बेहद सख्त नियम हैं. कैंप में फोन के साथ कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सामान लाने की अनुमति नहीं है.

    लोगों की कराई जाती है काउंसलिंग

    कैंप के मैनेजर योंग-चुल शीम ने कहा कि यहां युवाओं को कई तरह की गतिविधियां कराई जाती हैं. जिससे उनके इंटरनेट के दिलचस्प प्रोग्राम को लाइव दिखाया जा सके. इसके अलावा लोगों की काउंसलिंग होती है, जहां खुलकर वह अपनी समस्याओं के बारे में बोल सकते हैं. शीम ने कहा कि यहां युवाओं को इंटरनेट और सोशल मीडिया की जगह अन्य विकल्प देने की कोशिश की जाती है.

    ये भी पढ़ें-  चीन में कम्युनिस्ट पार्टी ने लिया मंदिर और चर्च को मार्गदर्शन देने का फैसला- रिपोर्ट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज