जिम्बाब्वे के पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे का 95 साल की उम्र में निधन

जिम्बाब्वे (Zimbabwe) के पूर्व राष्ट्रपति (Former Prime Minister) और तानाशाह रॉबर्ट मुगाबे का शुक्रवार को सिंगापुर के एक अस्पताल में 95 साल की उम्र में निधन हो गया.

News18Hindi
Updated: September 8, 2019, 4:21 PM IST
जिम्बाब्वे के पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे का 95 साल की उम्र में निधन
रॉबर्ट मुगाबे का 95 साल की उम्र में निधन
News18Hindi
Updated: September 8, 2019, 4:21 PM IST
हरारे: जिम्बाब्वे (Zimbabwe) के पूर्व राष्ट्रपति (Former Prime Minister) और तानाशाह रॉबर्ट मुगाबे (Robert Mugabe) का शुक्रवार को निधन हो गया. सिंगापुर के एक अस्पताल में उन्होंने 95 साल की उम्र में आखिरी सांस ली. मुगाबे को अगले रविवार को दफनाये जाने की उम्मीद है. यह जानकारी सरकारी मीडिया ने दी. मुगाबे 1980 से 1987 तक प्रधानमंत्री और 1987 से 2017 तक राष्ट्रपति रहे थे. रॉबर्ट मुगाबे ने 37 सालों तक जिम्बाब्वे का नेतृत्व किया था. पूर्व छापामार नेता मुगाबे 1980 में अल्पसंख्यक श्वेतों के शासन से जिम्बाब्वे की आजादी के बाद देश के पहले नेता बने और 2017 तक सत्ता में रहे जब उन्हें इस्तीफा देने के लिए बाध्य किया गया. मुगाबे का शुक्रवार को सिंगापुर में निधन हो गया.

जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति एमर्सन मनांगाग्वा ने उनकी मौत के बारे में बताते हुए ट्वीट किया कि “बेहद दुख के साथ मैं ये सूचित करता हूं कि जिम्बाब्वे के जनक और पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे नहीं रहे.”

‘संडे मेल’ ने राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता जॉर्ज चरम्बा के हवाले से कहा कि मुगाबे का पार्थिव शरीर बुधवार को जिम्बाब्वे लाया जाएगा. 1980 में सत्ता संभालने के बाद मुगाबे को जिम्बाब्वे के लोगों का मजबूत समर्थन हासिल था लेकिन दशकों के दमन, आर्थिक कुप्रबंधन और चुनावों में धांधली के आरोपों के बाद उनके प्रति समर्थन कम होता गया.

मुगाबे को बहुत से लोग राष्ट्रीय नायक के रूप में देखते हैं. वहीं कुछ लोगों ने यह कहना शुरू कर दिया कि वे उनकी कमी महसूस करते हैं क्योंकि उनके उत्तराधिकारी इमर्सन मननगाग्वा अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने में असफल रहे और असहमति को कुचलने के लिए सेना का इस्तेमाल किया.

चरम्बा के अनुसार मननगाग्वा और परिवार के सदस्य राजधानी हरारे स्थित हवाई अड्डे पर उनके पार्थिव शरीर को प्राप्त करेंगे. शव को हरारे से करीब 85 किलोमीटर दक्षिणपश्चिम में ग्रामीण क्षेत्र स्थित उनके घर ले जाया जाएगा. उसके बाद पार्थिव शरीर को सार्वजनिक दर्शन के लिए विशाल स्टेडियम में रखा जाएगा.

ये भी पढ़ें : वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 4:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...