Pitri paksh Mela: कोरोना काल में पहली बार गया में हो रहा पिंडदान, देखें श्रद्धालुओं से पटे मेले की तस्वीर

Gaya Pitripaksh Mela: ऐसा कहा जाता है कि पिंडदान मोक्ष प्राप्ति का एक सहज और सरल मार्ग है. जब मनुष्य का जीवन मिलता है तो कई प्रकार के ऋण होते हैं. इनमे मनुष्य पर देव ऋण, गुरु ऋण और पितृ ऋण होते हैं. माता-पिता की सेवा करके मरणोपरांत पितृपक्ष में पूर्ण श्रद्धा से श्राद्ध करने पर पितृऋण से मुक्ति मिलती है.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published:
विज्ञापन

विज्ञापन