PHOTOS : जानिए क्या है पूर्णिया का मां दुर्गा से नाता, नवरात्र में क्यों जलता है यहां अखंड दीया

पूरणदेवी मंदिर की स्थापना का इतिहास यहां के पुराने योगी और तांत्रिक बाबा हठीनाथ और उनकी कहानियों से जुडी हुई हैं. कहते हैं बाबा हठीनाथ एक बडे योगी और सिद्ध थे जिन्होने कभी बायें हाथ से किसी हाथी को उसका दांत पकड कर अपने रास्ते से हटा दिया था. बाबा हठीनाथ का शंख आज भी मंदिर में मौजूद है

विज्ञापन
First published:
विज्ञापन

विज्ञापन