Agni Purana: डरावने सपनों से मिलेगी मुक्ति, करने होंगे ये उपाय...

अग्निपुराण (Agni Purana) में त्रिदेवों, ब्रह्मा, विष्‍णु, शिव और सूर्य की पूजा-उपासना का वर्णन मिलता है. विद्याओं के प्रकाशन की दृष्टि से इस पुराण (Agni Purana) का विशेष महत्त्व है. इसमें तीन सौ तिरासी अध्याय हैं. गीता, रामायण, महाभारत, हरिवंश पुराण आदि का परिचय इस पुराण में मिलता है. इस पुराण के वक्‍ता भगवान अग्निदेव (Lord Agnidev) हैं.

विज्ञापन
First published: