जिंदगी जीना सिखाते हैं राजेश खन्ना के ये सदाबहार डायलॉग

साल 1972 में राजेश खन्ना 'बावर्ची' बनकर आए. इस संस्कारी बावर्ची ने घरवालों के साथ-साथ दर्शकों को भी जिंदगी जीने के तरीके सिखाए.

विज्ञापन
विज्ञापन
First Published: