बच्ची को गोद लेने की सूचना पर किन्नरों के डेरे पहुंची बाल आयोग की टीम, 6 साल का लड़का भी मिला

ज्योति बैंदा ने बताया कि 4 जनवरी को सोशल मीडिया से उनको सूचना मिली कि किन्नरों द्वारा एक बेटी को गोद लिया गया है. इसके बाद इस सूचना की पुष्टि की गई. पूछताछ के दौरान किन्नर रेश्मा के पास ऐसा कोई दस्तावेज नहीं मिला, जिससे यह साबित हो सके कि उन्होंने बच्ची को गोद लिया है.

विज्ञापन
First published: