मेवात में ऐतिहासिक धरोहरों की भरमार, उपेक्षा के कारण खोते जा रहे अपनी पहचान

Haryana News: बात अगर जिले के पिनगवां कस्बे की करें तो यहां स्थित राजा नल के महल, बावड़ी, मकबरा और कुआं की हालत जर्जर हो गई है. ये मेवात की एकता, अखण्डता व गौरवशाली इतिहास को ब्यां कर रहे हैं. जिले की कुछ ऐतिहासिक धरोहरों को पुरात्तव विभाग ने अपने कब्जे में लिया हुआ है. हालांकि, उनको बचाने के लिए खास कदम आज तक नहीं उठाए गए हैं.

विज्ञापन
First published: