हरियाणा: नक्सली हमले में शहीद हुए नूर हसन राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्द-ए-खाक

तिरंगे में लिपटकर घर लौटे शहीद को देख परिवार खुदको भावुक होने से नहीं रोक पाया. शहीद नूर हुसैन के पास दो बच्चे हैं. बड़ी बेटी की अभी हाल ही में शादी की थी. जबकि बेटा मोईन अभी महज 14 वर्ष का है, और पढ़ाई कर रहा है.

विज्ञापन
First Published: