चंडीगढ़ में ठोकरें खा रही हिमाचल की दिव्यांग बेटी शिखा शर्मा, 6 महीने पहले पिता ने दुनिया को कहा अलविदा

शिखा के लेख देशभर की विभिन्न मैगजीन और समाचार पत्रों में प्रकाशित होते रहे हैं. सिरमौर की एक संस्था शिखा शर्मा को हिमाचल आइकॉन अवार्ड से सम्मानित कर चुकी है. एक साल तक जिस पुनर्वास केंद्र में भर्ती रहीं, उनके संचालकों ने वीरवार को उन्हें निकाल दिया. शिखा के इलाज पर करीब दो से तीन लाख की राशि खर्च होनी है. वीरवार की रात शिखा ने चंडीगढ़ में सड़क किनारे बिताई.

विज्ञापन
First published: