PHOTOS : 6 माह तक ग्लेशियर में दबा रहा शहीद, अब जाकर नसीब हुई वतन की मिट्टी

कांगड़ा के इंदौरा के मकड़ौली गांव के 25 साल के युवक शम्मी पठानियां का शव बीते गुरुवार को उनके गांव पहुंचा. शहीद होने के करीब छह महीने बाद वह तिरंगे में लिपट कर घर पहुंचे.

विज्ञापन
First published: