सरकार तक नहीं पहुंचती चट्टानी पानी गांव की आवाज, हर साल खुद बनाते हैं अस्थायी पुल, See Photos

जमशेदपुर. चट्टानी पानी गांव चाहे अविभाजित बिहार का हिस्सा रहा हो या अब झारखंड का, उसकी हालत नहीं बदली. चट्टानी पानी गांव पूर्वी सिंहभूम के ओडिशा बॉर्डर पर है. इस गांव के लोग आज भी बरसात से पहले हर साल जय नदी पर लकड़ी का पुल बनाते हैं. बरसात के दिनों में जब जय नदी का पानी बढ़ जाता है तो इसी लकड़ी के पुलिस से चट्टानी पानी गांव के लोग डुमरिया के प्रखंड कार्यालय, अस्पताल, स्कूल या बाजार आते-जाते हैं. आइए आज आपको लिए चलते हैं चट्टानी पानी गांव, जहां लोग अपनी मेहनत से, अपने खर्च पर और अपने संसाधनों से पुल बना रहे हैं:

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: