जानवरों की खुराक कर देती है उनकी खोपड़ी बदलाव, बचाव क्षमता पर होता है असर

जानवरों (Animals) पर हुए शोध में वैज्ञानिकों ने पाया है कि जंगल से पकड़े गए बढ़ते हुए पालतू जानवरों (Hand Rare Animals) दी जाने वाली नरम खुराक (Soft Diet) के कारण उनकी खोपड़ी का विकास अलग तरह से होता है जो जंगल में पल रहे जानवरों की व्यस्क खोपड़ी से बहुत अलग होता है. शोधकर्ताओं ने पाया कि अलग अलग प्रकार के भोजन से जानवरों में काटने और चबाने वाली मांसपेशियों और हड्डियों का उपयोग अलग तरह से होता है जो बाढ़ के बाद व्यस्क होने पर उनकी खोपड़ी की बनावट में स्पष्ट दिखाई देता है.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: