आर्कटिक में ग्लेशियर पिघलने से तेजी से हो रहा है मीथेन का रिसाव

आर्कटिक (Arctic) के ग्लेशियर (Glacier) जिस तेजी से पिघल रहे हैं उसकी वजह से मीथेन गैस (Methane) का रिसाव बढ़ गया है. यह लाखों साल पहले की स्थितियों के भूगर्भीय अध्ययन से पता चला है.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: