जरूरी है महासागरों को जलवायु समझौतों में शामिल करना, जानिए क्यों

जलवायु परिवर्तन (Climate Change) में ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन पर तो खूब चर्चाएं हुई, लेकिन इन सभी का संबंध मुख्यतया केवल जमीन पर होने वाले उत्सर्जन से है. हैरानी की बात यह है इसमें महासागरों (Oceans) की भूमिका को शामिल तक नहीं किया है जबकि अब तक उत्सर्जित हुए मानव जनित गैसों में से 90 प्रतिशत से ज्यादा तो महासागरों ने अवशोषित किया है. वे जलवायु को ज्यादा गर्म होने से रोकने में ज्यादा प्रभावी भूमिका निभा रहे हैं. इस बार COP26 में महासागरों को उस तरह से शामिल नहीं किया गया जितनी प्रभावी उनकी भूमिका है.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: