चंद घंटे पहले बहन के निधन के बाद भी यूं ली राजेंद्र प्रसाद ने पहले गणतंत्र दिवस पर सलामी

24 जनवरी 1950 भारत के लिए बड़ा ऐतिहासिक दिन था, उस दिन संविधान सभा द्वारा राजेंद्र प्रसाद को सर्वसम्मति से आज़ाद भारत का पहला राष्ट्रपति चुना गया लेकिन अगले ही दिन उनके साथ ऐसा व्यक्तिगत हादसा हुआ कि उनके दुख का ठिकाना नहीं रहा. इसके बाद अपने आंसू पोंछते हुए वह पहले गणतंत्र दिवस पर परेड की सलामी लेने पहुंचे.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: