'शब्द जब मिलते नहीं मन के...' रामधारी सिंह 'दिनकर' की पुण्यतिथि पर पढ़ें उनकी लिखी मशहूर पंक्तियां

Ramdhari Singh Dinkar Death Anniversary: हिंदी साहित्य के मशहूर वीर रस के कवि रामधारी सिंह 'दिनकर' की रचनाओं में शौर्य गाथा को पढ़ा जा सकता है. 24 अप्रैल 1974 को 'दिनकर' ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. जानकारी के मुताबिक उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार और भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया गया था.

विज्ञापन
First published: