Fana Nizami Kanpuri Shayari: 'तिरे वा'दों पे कहां तक मिरा दिल फ़रेब खाए...' पढ़ें फ़ना निज़ामी कानपुरी के शेर

Fana Nizami Kanpuri Shayari: फ़ना निज़ामी कानपुरी का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर में 18 जुलाई 1922 को हुआ था. उनका मूल नाम मिर्ज़ा निसार अली बेग था. उन्होंने पारंपरिक ग़ज़ल-शायरी को अपने अन्दाज में पेश करने की वजह से लोकप्रियता हासिल की थी. पढ़ें, उनकी लिखी कुछ चुनिंदा शायरियां (Shayari)

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: