देश का 'गौरव', NDA में दाखिले के लिए छिपा लिया IIT का रिजल्ट, पढ़ें गोल्ड मेडलिस्ट की कहानी

स्वर्ण पदक विजेता गौरव यादव को सशस्त्र बलों में करियर बनाने का काफी जुनून था. इसके कारण उन्होंने पुणे के पास खड़कवासला में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में प्रवेश पाने से पहले कई चक्कर लगाए. बुधवार को वे एनडीए के 143वें कोर्स के राष्ट्रपति गोल्ड मेडल विजेता बनकर उभरे. राजस्थान के अलवर जिले के जाजोर-बास गांव के एक किसान के बेटे गौरव ने अपने परिवार से यह सच्चाई छिपाई कि उन्होंने IIT प्रवेश परीक्षा पास कर ली है. इसके साथ ही अपने NDA के सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने दिल्ली में एक कॉलेज में एडमिशन ले लिया.

First Published: