राष्ट्रपति के ये 'तीन शब्द' बोलते ही गूंज उठी संसद, 2 मिनट तक नहीं रुकी मेजों की गड़गड़ाहट

एक घंटे के राष्ट्रपति के अभिभाषण में कई मर्तबा सत्ता पक्ष के सांसदों ने मेजों को थप-थपाकर अपनी सरकार के किए गए कार्यों सरहाना की. लेकिन दो ऐसे मौके आए जब मेजों की थाप रुकने के नाम नहीं ले रही थी.

विज्ञापन
First published:
विज्ञापन

विज्ञापन