रेत में बिखरी कश्मीरी खुशबू, बाड़मेर में उगा दिया केसर, यू-ट्यूब से ली ट्रेनिंग - See Photos

बाड़मेर. कहते हैं कि इरादे नेक व हौसले बुलंद हों, तो असम्भव भी सम्भव हो जाता है. यह कर दिखाया है सरहदी बाड़मेर जिले के सेवानिवृत्त कर्मचारी वासुदेव जोशी ने. जन्नत ए हिंन्दुस्तान में बरसों से शान से खिलने वाला केसर रेगिस्तानी बाड़मेर में महकता नजर आ रहा है. फेसबुक के माध्यम से कश्मीर से केसर के बल्ब मंगवाकर बुवाई की और इस रेगिस्तानी इलाके में खेती को संभव कर दिखाया है. उन्होंने केसर की खेती के लिए मौसम से लेकर मिट्टी तक की पूरी जानकारी इंटरनेट से जुटाई है. (रिपोर्ट और तस्वीरें : मनमोहन सेजू)

First Published: