मिसाल: 10वीं की छात्रा ईशानी ने अपनी पॉकेट मनी से वंचित बच्चों के लिए खोली लाइब्रेरी, देखें किताबघर की तस्वीरें

Ghaziabad Student Got Book House Made with Pocket Money: दिल्ली की रहने वाली 10वी क्लास की छात्रा ईशानी ने गाजियाबाद के डासना इलाके में बच्चों के पढ़ने के लिए एक लाइब्रेरी खोलने में अपना योगदान दिया. इस छात्रा ने अपनी पॉकेट मनी को तिनका तिनका जोड़कर लाइब्रेरी बनाने में अपना योगदान दिया है. ये है 10वीं क्लास में पढ़ने वाली 15 वर्षीय इशानी अग्रवाल. महज 15 साल की उम्र में इशानी ने जो कर दिखाया है वो दूसरों के लिए मिसाल बन गया.

विज्ञापन
विज्ञापन
First Published: