आंखों में डर, अमन चैन की दुआ कर पाकिस्तान जाने की राह देख रहीं हिंदुस्तान की ये दो बेटियां

नफीसा के बेटे माज़ का भी कहना है कि मेरे मामा-मामी यहीं रहते हैं, उनसे मिलने ही हम लोग यहां आये थे. यहां का बहुत अच्छा माहौल है. फिर भी तरह-तरह के ख्याल मन में आते हैं. दोनों मुल्को में शांति होनी चाहिए.

विज्ञापन
First published: