अयोध्या में सबसे पहले किसे मिला 'हिंदुत्व' का राजनीतिक फायदा

आचार्य नरेंद्र देव सोशलिस्ट पार्टी के प्रत्याशी के तौर पर 1948 में फैजाबाद सीट से उपचुनाव लड़ रहे थे. उनको हराने के लिए कांग्रेस ने खुलकर हिंदू कार्ड खेला. देवरिया के बाबा राघव दास को खड़ा किया. कांग्रेस नेताओं ने नरेंद्र देव के बारे में जनता से पूछा कि क्या आप अपना वोट ऐसे व्यक्ति को देंगे जो राम को भगवान नहीं मानते?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
First published: