​ब्रह्मकमल से कम नहीं बुरुंश की हैसियत-अ​हमियत, आपको बुला रही है पहाड़ों की ये लाल बहार

Spring in Uttarakhand : पहाड़ों में शरद ऋतु के बाद जैसे ही बसंत का आगमन होता है, कई पौधों पर रंग बिरंगे फूलों की आमद भी होती है. इन्हीं के बीच अपने चटख लाल रंग वाला बुरांस या बुरुंश दूर से 'पुष्पराज' की तरह दिखने लगता है. यह उत्तराखंड का राज्य वृक्ष (State Tree of Uttarakhand) भी है. शिवरात्रि से पहले बुरुंश का खिलना पहाड़ों में शुभ क्यों माना जाता है? यह फूल इतना खास क्यों है? क्यों न यह फूल ही अपनी कहानी बताए! देखिए नितिन सेमवाल को बुरुंश ने अपनी कहानी कैसे बताई.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: