नंदादेवी फतेह कर चुकी ​पहाड़ की बेटी ने IMF में रचा इतिहास, क्या कहते हैं इस अर्जुन अवॉर्डी के मिशन और विजन?

Women of Uttarakhand : इतिहास में सिर्फ एक बार 1981 में हुआ था, जब महिला पर्वतारोही (Women Mountaineers) दल नंदा देवी की चोटी पर परचम लहरा पाया था. इस दल में शामिल डॉ हर्षवंती बिष्ट (Harshwanti Bisht) का करियर और जीवन काफी घटनाप्रधान रहा है. उन्होंने आईएमएफ के शीर्ष पद की जो उपलब्धि हासिल की है, वह किसी भी महिला के लिए एक और पहाड़ चढ़ने से कम नहीं है क्योंकि इतिहास में यह कभी नहीं हुआ. इस मौके पर बिष्ट ने सुनील नवप्रभात के साथ बछेंद्री पाल (Bachhendri Pal) वाले एवरेस्ट मिशन (Everest Mission) से जुड़ी कड़वी यादें भी साझा कीं और अपने आगे के मिशन को लेकर भी.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: