‘अब आया वह 15 अगस्त जब घर आ रहे पापा!’, 38 साल बाद घर आएगा शहीद का पार्थिव शरीर, सलामी देंगे CM धामी

भारतीय सेना की वीरता और पराक्रम की अनेक कहानियां हमने और आपने सुनी हैं. ऐसे ही एक वीर की शहादत की कहानी करीब 4 दशक पुरानी है, जिनका पार्थिव शरीर 38 साल बाद तिरंगे में घर पहुंच रहा है. बेटियों को वीरगति प्राप्त अपने पिता की याद भले नहीं है, लेकिन गर्व तो है. देखिए आश्चर्य व कुतूहल से भरी एक कहानी.

विज्ञापन
First Published: