पूजा कर और फ़सल काट कर मनाया जा रहा है हरियाली का पर्व हरेला, शिव से भी है नाता

हरेला पर्व उत्तराखंडियों और प्रकृति के बीच पारस्परिक संबंध का भी प्रतीक है. गांव और शहर आज से सभी जगहों पर हरेला मनाया जाना शुरु हो गया है.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: