General Rawat Memories : गढ़वाली बोली, खीर खाई, खूब फोटो खिंचवाए... 3 घंटे में कितनी यादें छोड़ गए जनरल रावत!

सरल, सहज, सौम्य और ज़िंदादिल व्यक्ति जब भी जीवन को अलविदा कहता है तो उसका व्यक्तित्व उसकी यादों में हमेशा जीवन्त रहता है. इसी तरह के व्यक्तित्व थे, देश के पहले सीडीएस विपिन रावत, जो अब भले हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनकी यादें अब भी कई आंखों को नम कर रही हैं. इसी 1 दिसम्बर को गढ़वाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में पहुंचे जनरल रावत लगभग 3 घंटे ही यहां रहे लेकिन उनकी यादें सभी के मन में गहरे पैठीं. तस्वीरों की गवाही के ज़रिये श्रीनगर गढ़वाल से सुधीर भट‌्ट की खास रिपोर्ट.

विज्ञापन
First published: