Kedarnath Yatra के 2 महीने: विवाद, अव्यवस्था व बारिश के बीच रिकॉर्ड पौने 9 लाख श्रद्धालु, अब तक ऐसे चली यात्रा

इस साल 6 मई को बाबा केदार के कपाट खुले थे और पूरे उत्साह के साथ आस्था का जनसमुद्र उमड़ा था. हालांकि अब रुद्रप्रयाग-चोपता-गोपेश्वर नेशनल हाईवे और रुद्रप्रयाग-बद्रीनाथ हाईवे लगातार प्रभावित हैं, तो इधर यात्रा भी पहले दिन की तुलना में सात गुना घट चुकी है. देखिए केदारनाथ यात्रा के दो महीने कैसे गुज़रे.

विज्ञापन
विज्ञापन
First published: