Home / Photo Gallery / world /turkey underwater 3000 year old castle open area temples discovered see photos

तुर्की में पानी के नीचे मिला रहस्यमयी महल! 3 हजार साल पुरानी सभ्यता का मंदिर, देवताओं की होती थी पूजा

क्या आपको पता है कि द्वारिका के अतिरिक्त कई अन्य महल भी हैं जो इस समय पानी के अंदर समा गए हैं. एक ऐसे ही 3 हजार वर्ष पुराने महल को तुर्की में ढूंढा गया था. पुरातत्वविदों को खुदाई के दौरान एक झील में 3,000 साल पुराने महल के अवशेष मिले हैं.

01

तुर्की के पूर्वी वान प्रांत में पुरातत्वविदों ने लेक वैन में पानी के भीतर खुदाई के दौरान 3,000 साल पुराने उरारतु महल के खंडहरों की खोज की थी. तुर्की की सबसे बड़ी और मध्य पूर्व की दूसरी सबसे बड़ी झील की गहराई में मिला यह प्राचीन महल काफी हद तक अच्छी हालत में है. (File Photo)

02

झीले में मिले महल के अवशेष एक मुख्य महल से सम्बंधित हैं जो पूर्वी वान प्रांत के गुरपिनार जिले के पहाड़ों के बीच स्थित 8,200 फीट की ऊंचाई पर स्थित है. वहां, टीम को प्राचीन दीवारें, पानी के भंडारण के लिए एक कुंड, और आगे जमीन के भीतर, कुछ चीनी मिट्टी के टुकड़े भी मिले. (twitter/TurkishMuseums)

03

अब वान झील का वर्तमान जल स्तर कथित तौर पर उरारतु सभ्यता के दौरान की तुलना में कई सौ मीटर अधिक है. विशेषज्ञों के अनुसार झील के आसपास रहने वाली सभ्यताओं ने बड़े गांव और बस्तियां बसाईं, जब झील का जल स्तर कम था, लेकिन फिर से बढ़ने के बाद उन्हें क्षेत्र छोड़ना पड़ा होगा. अनुसंधान यह निर्धारित नहीं कर सका कि महल की कितनी दीवारें पानी में दबी हुई हैं, लेकिन पानी के ऊपर लगभग तीन से चार मीटर दिखाई देती हैं. (Twitter/turarchaeonews)

04

अपने अद्वितीय ऐतिहासिक मूल्य के कारण पानी के नीचे के खंडहरों से हजारों पर्यटकों को आकर्षित करने की उम्मीद जताई जा रही है. लेक वैन तुर्की की सबसे बड़ी झील है और मध्य पूर्व में दूसरी सबसे बड़ी झील है. यह दुनिया की सबसे बड़ी सोडियम वाटर झील भी है. झील ईरान के साथ सीमा के पास पूर्वी अनातोलियन क्षेत्र के ऊंचे मैदानों पर स्थित है. यह वैन प्रांत के पास माउंट नेम्रुट के ज्वालामुखी विस्फोट के कारण बने क्रेटर द्वारा बनाई गई थी. (Image: thearchaeologist.org)

05

इसी सभ्यता का एक 2,800 साल पुराना ओपन एरिया मंदिर भी उरारतु काल का खोजा गया है. माना जाता है कि इसका उपयोग दक्षिण-पश्चिमी भाग में धार्मिक समारोहों में किया जाता था. उरारटियन कई देवताओं को पूजते थे इसलिए संभावना है कि अन्य देवी-देवताओं की मूर्तियों को क्षेत्र में अलग-अलग जगहों पर रखा गया हो. फिलहाल पुरातत्वविदों का मानना है कि यहां युद्ध के देवता के नाम पर समारोह आयोजित किये जाते थे. (Twitter/HDNER)

  • 05

    तुर्की में पानी के नीचे मिला रहस्यमयी महल! 3 हजार साल पुरानी सभ्यता का मंदिर, देवताओं की होती थी पूजा

    तुर्की के पूर्वी वान प्रांत में पुरातत्वविदों ने लेक वैन में पानी के भीतर खुदाई के दौरान 3,000 साल पुराने उरारतु महल के खंडहरों की खोज की थी. तुर्की की सबसे बड़ी और मध्य पूर्व की दूसरी सबसे बड़ी झील की गहराई में मिला यह प्राचीन महल काफी हद तक अच्छी हालत में है. (File Photo)

    MORE
    GALLERIES