Podcast: फर्श से अर्श तक सफर तय करने वाले युवा की कहानी

  • October 26, 2020, 11:29 am
नई दिल्ली. नवरात्र-विजयादशमी के उत्सव के बीच भारत में सबसे अधिक चर्चा चुनावों की हो रही है. बिहार में कोरोनावायरस से नेता संक्रमित हो रहे हैं, पर इसका चुनाव प्रचार पर असर नहीं हो रहा है. मध्य प्रदेश में होनेवाले उपचुनाव को लेकर एडीआर ने रिपोर्ट जारी की है. अब देखना यह है कि इस रिपोर्ट का जनता पर कितना असर होता है. इन खबरों के साथ हम इस न्यूज पॉडकास्ट में भारत और चीन की कूटनीतियों की बात भी करेंगे. और अंत में हम आपको मिलवाएंगे ऐसे शख्स से जिसने अपने नौवीं कोशिश में मेडिकल एंट्रेंस परीक्षा में पास की. तो फिर बने रहिए न्यूज 18 के इस पॉडकास्ट के साथ...

सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे आज से शुरू हो रहे चार दिवसीय सैन्य कमांडर सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे. यह सम्मेलन महत्वपूर्ण नीतिगत फैसलों के लिए हर छह महीने पर होने वाला शीर्ष स्तरीय आयोजन है. इस सम्मेलन में पूर्वी लद्दाख के साथ ही चीन से लगने वाली वास्तविक नियंत्रण रेखा के अन्य संवेदनशील इलाकों में भारत की युद्धक तैयारी का व्यापक आकलन करेंगे. यह जानकारी सरकारी सूत्रों ने दी है.

भारत को घेरने के लिए चीन पिछले कई साल से बड़े पैमाने पर पड़ोसी देशों में निवेश कर रहा है. श्रीलंका पर तो चीन का कर्ज इतना बढ़ गया कि उसे अपना हंबनटोटा पोर्ट को लीज पर देना पड़ा. श्रीलंका के बाद अब म्यांमार चीन के निशाने पर है. चीन ने म्यांमार को अरबों डॉलर का कर्ज दिया हुआ है. भारत के साथ म्यांमार के मजबूतों होते संबंधों के बीच चीन ने इस देश को दिए गए लोन की समीक्षा शुरू कर दी है. चीन ने म्यांमार में लगभग 100 बिलियन डॉलर यानी 73 खरब 83 अरब 41 करोड़ 50 लाख रुपये से ज्यादा का निवेश किया है. इसके तहत वह म्यांमार में 38 परियोजनाओं को बनाने की प्लानिंग कर रहा है, हालांकि अभी तक उसे दो ही परियोजनाओं के लिए स्वीकृति मिल पाई है.

मध्य प्रदेश उपचुनाव में किस्मत आजमा रहे कुल 355 उम्मीदवारों में से 63 ने यानी 18 प्रतिशत उम्मीदवारों ने चुनावी हलफनामे में बताया है कि उनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी एडीआर की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है. रिपोर्ट के अनुसार, कुल उम्मीदवारों के 11 प्रतिशत यानी 39 उम्मीदवारों ने बताया है कि उनके खिलाफ संगीन आपराधिक मामले दर्ज हैं. संगीन आपराधिक मामले गैर जमानती होते हैं. इनमें पांच साल तक के कारावास की सजा हो सकती है.

बिहार विधानसभा के पहले चरण का चुनाव प्रचार सोमवार को थम जाएगा. पहले चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, सीएम नीतीश कुमार और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव समेत कई बड़ी रैलियां होंगी. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा औरंगाबाद और पूर्णिया में रैली को संबोधित करेंगे. वहीं, तेजस्वी यादव भागलपुर, खगड़िया, वैशाली, बेगूसराय में जनसभा को संबोधित करेंगे. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण में 71 सीटों के लिए 28 अक्टूबर को वोटिंग होनी है.


लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने रविवार को बक्सर के डुमराव में आयोजित चुनावी रैली में दावा किया कि अगर उनकी पार्टी की सत्ता में आती है तो सात निश्‍चय में घोटाला करने वाले सलाखों के पीछे होंगे, वे चाहें अधिकारी हों या फिर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार. उन्होंने राज्य सरकार को घेरते हुए कहा कि बिहार में शराबबंदी फेल हो गई. अवैध शराब हर जगह बिक रही है और इसका कमीशन नीतीश कुमार तक पहुंच रहा है.

इंडियन प्रीमियर लीग का पहला क्वालिफायर और फाइनल दुबई में होगा जबकि बाकी दो प्ले ऑफ मैच अबुधाबी में खेले जाएंगे. भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इसका ऐलान किया. क्वालिफायर-वन शीर्ष दो टीमों के बीच होगा, जो 5 नवंबर को खेला जाएगा, जबकि फाइनल 10 नवंबर को होगा. अबुधाबी के शेख जायद स्टेडियम में 6 नवंबर को एलिमिनेटर खेला जाएगा, जो तीसरे और चौथे स्थान की टीमों के बीच होगा, यहां 8 नवंबर को दूसरा क्वालिफायर भी खेला जाएगा. सभी मैच भारतीय समय के अनुसार शाम 7 बजकर 30 मिनट पर शुरू होंगे.

और अब खबर धीरज, मेहनत और लगन की.  कवि वृंद ने लिखा था करत-करत अभ्यास ते, जडमति होत सुजान. रसरी आवत जात ते, सिल पर परत निसान. कवि वृंद के इस दोहे को सच साबित कर दिखाया है 26 बरस के अरविंद कुमार ने. उन्होंने अपनी नौवीं कोशिश में ऑल इंडिया प्री मेडिकल टेस्ट के लिए आयोजित परीक्षा पास कर ली. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के रहनेवाले अरविंद का कहना है कि उनके पिता कबाड़ी का काम करने हैं, उनका नाम है भिखारी. अपने काम और नाम के चलते उन्हें गांववालों से अपमानित होना पड़ता था. बस, इसी अपमान को जवाब देने की जिद थी मेरे भीतर कि कुछ ऐसा बनना है कि पिता का सिर ऊंचा हो. हालांकि यह सफलता इतनी आसानी से नहीं मिली. वह पहली बार 2011 में ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (AIPMT) में शामिल हुए थे, पर कामयाब नहीं हुए थे. अरविंद ने कहा कि इस साल नौवें प्रयास में उन्हें यह सफलता मिली है. उन्होंने अखिल भारतीय स्तर पर 11 हजार 603 रैंक हासिल किया है. अन्य पिछड़ा वर्ग श्रेणी में उसका रैंक 4 हजार 392 है. अरविंद ने कहा कि उनकी 8 कोशिशें नाकामयाब हुईं, पर वे कभी भी मायूस नहीं हुए. उन्होंने कहा, कि मैं नकारात्मकता को सकारात्मकता में बदलने और उससे ऊर्जा व प्रेरणा लेने की मंशा रखता हूं. मेरी इस सफलता का श्रेय पांचवीं तक पढ़े मेरे पिता और अनपढ़ रह गई मेरी मां को है.

अरविंद कहते हैं कि अपने पिता को असामान्य नाम की वजह से अपमानित होते देख बड़ा हुआ हूं. उनके पिता काम के वास्ते परिवार को छोड़कर दो दशक पहले जमशेदपुर चले गए थे. कुछ साल पहले अपने तीनों बच्चों की अच्छी शिक्षा-दीक्षा के लिए भिखारी अपने परिवार को गांव से कुशीनगर शहर ले आए, जहां अरविंद ने महज 48.6 फीसद प्राप्तांक से दसवीं कक्षा पास की. बारहवीं कक्षा में उन्हें 60 फीसद अंक मिले और तभी उसे अपने पिता की इच्छा पूरी करने के लिए डॉक्टर बनने का ख्याल आया.

इन खबरों को विस्तार से पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट हिंदी डॉट न्यूज18 डॉट कॉम पर जाएं. आज के न्यूज बुलेटिन में इतना ही. नई खबरों और नए अपडेट के साथ हम फिर हाजिर होंगे. तब तक के लिए दें विदा. नमस्कार.

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज