Podcast: ठंड में सेहत का रखें ध्यान; बढ़ सकती है अस्थमा, खांसी और सांस की परेशानी

  • January 26, 2021, 11:01 am
उत्तर और मध्य भारत में एक बार ठंड बढ़ गई है. मौसम विभाग (IMD) ने भी एक एडवाइजरी जारी की है. उसने साफ किया है कि अगले 3 दिन तक देश के कई राज्यों में शीत लहर (Cold Wave) और घने कोहरे (Dense Fog) का प्रकोप रहेगा. इसलिए लोग घर से बाहर न निकलें और अगर जरूरी हो तभी अपना यात्रा प्लान करें. मौसम की कड़ी मार के चलते लोगों को अपने स्‍वास्‍थ्‍य का भी ख्‍याल रखने की बेहद जरूरत है. न्यूज18 के इस स्पेशल पॉडकास्ट में पूजा प्रसाद इसी विषय पर बात कर रही हैं.

कड़कड़ाती ठंड के साथ देश के उत्तरी हिस्से में कोहरा भी बढ़ गया है. घने कोहरे में पार्टिकुलेट मैटर और प्रदूषण की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है, जिसकी वजह से फेफड़ों को नुकसान पहुंचता है. खांसी, अस्थमा और सांस लेने आदि की समस्या हो जाती है. आंखों में जलन, सूजन और लालपन जैसी समस्या भी उत्पन्न होती है.

इस तरह के मौसम में फ्लू, नाक का बहना या रुक जाना, नकसरी जैसी विभिन्न तरह की बीमारियां भी बढ़ जाती हैं. ‌यह भी सलाह दी है कि ठंड की वजह से अगर कपकपी जैसी स्थिति बनती है तो तुरंत मेडिकल ट्रीटमेंट लेना चाहिए.

साथ ही घने कोहरे और शीत लहर आदि का असर कृषि, फसल, पशुओं, वाटर सप्लाई, ट्रांसपोर्ट और पावर सेक्टर आदि पर भी ज्यादा देखने को मिल सकता है. मौसम विभाग ने लोगों को इस स्थिति से बचने के लिए कुछ सुझाव भी दिए हैं.

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज