podcast : महिला आरक्षण अधिकार का विषय है दया का नहीं : सीजेआई एनवी रमण

  • September 27, 2021, 10:04 am

नई दिल्ली. आप सुनना शुरू कर चुके हैं खबरों से भरा न्यूज18 हिंदी का पॉडकास्ट. इस पॉडकास्ट में आपका स्वागत है दोस्तो, स्वीकार करें नमस्कार. दोस्तो, केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने आज भारत बंद का आयोजन किया है. देश के प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण ने महिला वकीलों का आह्वान किया कि वे न्यायपालिका में 50 प्रतिशत आरक्षण के लिए जोरदार तरीके से मांग उठाएं. कल रविवार को यूपी मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया, जिसमें 7 नए चेहरे शामिल हुए और कल ही पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी अपने नए मंत्रिमंडल का गठन किया. अयोध्या के तपस्वी छावनी के संत परमहंस ने ऐलान कि केंद्र सरकार अगर 1 अक्टूबर तक भारत को हिंदूराष्ट्र घोषित नहीं करती है तो वे 2 अक्टूबर को सरयू में जलसमाधि ले लेंगे. इन खबरों के अलावा आज के पॉडकास्ट में मध्य प्रदेश और राजस्थान की खबरें भी होंगी, साथ ही होगी चक्रवात गुलाब के असर की बात. फिलहाल आज की पहली खबर.



भारत के प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण ने रविवार को महिला वकीलों का आह्वान किया कि वे न्यायपालिका में 50 प्रतिशत आरक्षण के लिए जोरदार तरीके से मांग उठाएं. प्रधान न्यायाधीश ने इस मांग को अपना पूरा समर्थन जताते हुए कहा, ‘मैं नहीं चाहता कि आप रोएं, बल्कि आपको गुस्से के साथ चिल्लाना होगा और मांग करनी होगी कि हम 50 प्रतिशत आरक्षण चाहती हैं.’ प्रधान न्यायाधीश ने यह बात उच्चतम न्यायालय की महिला अधिवक्ताओं की ओर से आयोजित तीन महिला न्यायाधीशों समेत नवनियुक्त 9 न्यायाधीशों के सम्मान समारोह में कही. उन्होंने कहा कि यह हजारों सालों के दमन का विषय है और महिलाओं को आरक्षण का अधिकार है. न्यायमूर्ति रमण ने कहा, ‘यह अधिकार का विषय है, दया का नहीं.’ उन्होंने कहा, ‘मैं देश के सभी विधि संस्थानों में महिलाओं के लिए एक निश्चित प्रतिशत आरक्षण की मांग की पुरजोर सिफारिश और समर्थन करता हूं ताकि वे न्यायपालिका में शामिल हो सकें.’

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है. दिल्ली बॉर्डर पर महीनों से जमे किसानों ने दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेस वे और एनएच 9 बंद रखने का ऐलान किया है. भारतीय किसान यूनियन की घोषणा के मुताबिक, सोमवार सुबह 6 बजे हाईवे पर आवाजाही बंद कर देगी. यहां पर किसान नेता राकेश टिकैत खुद मौजूद रहेंगे. यातायात पुलिस के एडवाइजरी के अनुसार दिल्‍ली से गाजियाबाद, मेरठ और मुरादाबाद की ओर जाने वाले वाहन चालक दूसरे रास्‍तों का इस्तेमाल करें. किसानों के भारत बंद के आह्वान के बाद गाजियाबद ट्रैफिक पुलिस भी अलर्ट पर है. ट्रैफिक पुलिस को मिले निर्देश के अनुसार दिल्ली गाज़ियाबाद से जुड़े सभी बॉर्डर पर ट्रैफिक की समस्या के अलावा अन्‍य किसी भी तरह की परेशानी से निपटने के लिए अतिरिक्त ट्रैफिक पुलिस तैनात की गई है. ट्रैफिक इंस्‍पेक्‍टर बीपी गुप्ता ने बताया कि सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे के बीच विशेष रूप से अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा साहिबाबाद रेलवे स्टेशन की तरफ जाने वाले सभी रूट पर भी अतिरिक्त ट्रैफिक पुलिस तैनात की गई है.

यूपी की योगी सरकार ने जातीय समीकरण साधते हुए रविवार को मंत्रिमंडल विस्तार किया है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल में 7 नए चेहरों को जगह दी है, जिनमें 1 ब्राह्मण, 3 ओबीसी, 2 एससी और 1 एसटी चेहरे हैं. नए चेहरों में हाल में कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए ब्राह्मण चेहरे जितिन प्रसाद को कैबिनेट मंत्री के रूप में शामिल किया गया है. इन 7 नामों में एससी समुदाय के दिनेश खटीक भी हैं जो मेरठ की हस्तिनापुर से विधायक हैं. बरेली से विधायक छत्रपाल गंगवार कुर्मी समाज से आते हैं. आगरा के धर्मवीर प्रजापति प्रजापति समाज से आते हैं. संजीव कुमार गोंड अनुसूचित जनजाति यानी एसटी के गोंड समाज से आते हैं. पलटूराम अनुसूचित जाति यानी एससी वर्ग से आते हैं. संगीता बिंद निषाद समुदाय से हैं. पहले निषाद पार्टी के साथ गठबंधन और अब संगीता बिंद को मंत्री बनाकर निषादों को साधने की कवायद की गई.

पंजाब कांग्रेस ने भी रविवार को 7 नए चेहरों के साथ अपना नया मंत्रालय सबसे सामने पेश कर दिया है. छह दिन पहले चरणजीत सिंह चन्नी ने बतौर पंजाब सीएम पद की शपथ ली थी, उनके साथ दो डिप्टी सीएम सुखजिंदर एस रंधावा और ओपी सोनी ने भी शपथ ली थी. वास्तव में यह मंत्रिमंडल टीम में नया युवा जोश भरने, जाति और क्षेत्रीय विचारों को संतुलित करने के साथ ही पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को भड़काए बिना सभी को साथ ले जाने का एक प्रयास है. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने रविवार को राज्य मंत्रिपरिषद का पहला विस्तार कर 15 कैबिनेट मंत्रियों को शामिल किया है, जिसमें 7 नए चेहरे हैं. पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के 5 वफादार विधायकों को जगह नहीं दी गई है. राज्य में पांच महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस कवायद से सत्तारूढ़ दल कांग्रेस ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है.

ये खबरें आप न्यूज 18 हिंदी के पॉडकास्ट में सुन रहे हैं. इन्हें विस्तार से पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट हिंदी डॉट न्यूज18 डॉटकॉम पर जाएं.

अयोध्या के तपस्वी छावनी के संत परमहंस ने ऐलान कि केंद्र सरकार अगर 1 अक्टूबर तक भारत को हिंदूराष्ट्र घोषित नहीं करती है तो वे 2 अक्टूबर को सरयू में जलसमाधि ले लेंगे. उन्होंने यह घोषणा रविवार को तपस्वी छावनी में सनातन धर्मसंसद के आयोजन के बाद की. दरअसल, कुछ महीने पहले संत परमहंस ने हिन्दूराष्ट्र को लेकर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को पत्र भी भेजा था. उसके बाद आत्मदाह का ऐलान किया था, लेकिन चिता पर बैठने के समय ही अय्योध्या पुलिस पहुंच गई थी. उन्हें मनाकर रोक लिया गया था. इसके बाद अब संत परमहंस ने एक और ऐलान किया कि अगर 1 अक्टूबर तक भारत को हिन्दूराष्ट्र घोषित नहीं किया गया तो वह 2 अक्टूबर को सरयू में जल समाधि ले लेंगे.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भाई अग्रसेन गहलोत को प्रवर्तन निदेशालय ने समन भेजकर तलब किया है. ईडी ने अग्रसेन गहलोत को पूछताछ के लिए आज यानी सोमवार को हेडक्वार्टर बुलाया है. फर्टिलाइजर स्कैम से जुड़े इस मामले में ED पहले अग्रसेन गहलोत के प्रतिष्ठानों पर सर्च ऑपरेशन कर चुकी है. ईडी ने बीते वर्ष जुलाई महीने में अग्रसेन गहलोत के राजस्थान समेत कई ठिकानों पर छापेमारी की थी. यह पूरा कथित घोटाला म्यूरेट ऑफ पोटाश के निर्यात के इर्द-गिर्द घूमता है, जिसे इंडियन पोटाश लिमिटेड द्वारा आयात किया जाता है.

मध्य प्रदेश में तैनात आउटसोर्स बिजली कर्मचारी सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे हैं. इसका असर प्रदेश में बिजली सप्लाई पर पड़ सकता है. ऊर्जा मंत्री ने आउटसोर्स कर्मचारियों की मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया था. लेकिन मांग पूरी नहीं करने पर कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया. आउटसोर्स कर्मचारियों की मुख्य मांग है कि बिजली कंपनियों में उनका विलय किया जाए. बिजली कर्मचारियों के मुताबिक, अपनी मांगों को लेकर उनका प्रतिनिधिमंडल 23 अगस्त को ऊर्जा मंत्री से मिला था. इस दौरान मंत्री ने समस्या का निराकरण कर मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया था. बिजली कर्मचारियों का आरोप है कि मंत्री ने आश्वासन दिया लेकिन लिखित कोई भी मांग अभी तक नहीं मानी. यदि उन्हें मांगें पूरी करने का लिखित आश्वासन मिलता तो कर्मचारी इतना बड़ा फैसला नहीं लेते.

बंगाल की खाड़ी में उठ रहे गुलाब चक्रवात के कारण पश्चिम बंगाल समेत कई राज्‍यों में बारिश के आसार बन रहे हैं. पिछले 24 घंटे में पश्चिम बंगाल के कई हिस्‍सों में भारी बारिश हुई है. मौसम विभाग का कहना है कि म्यांमार तट के करीब सोमवार को चक्रवाती क्षेत्र बन सकता है जिसके प्रभाव से अगले 24 घंटे में निम्नदाब का क्षेत्र विकसित होगा. इससे कोलकाता, पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्वी और पश्चिमी बर्द्धमान, हावड़ा, झारग्राम, बांकुड़ा और पुरुलिया जिलों के एक-दो स्थानों पर मंगलवार को भी भारी बारिश हो सकती है. चक्रवाती तूफान गुलाब का असर ट्रेन परिचालन पर भी देखा जा रहा है. दक्षिण-पूर्व रेलवे ने तूफान को देखते हुए कई ट्रेनें रद्द कर दी हैं. कइयों के मार्ग बदले गए हैं. रेलवे ने इस बाबत जानकारी दी है. तूफान को लेकर बंगाल और ओडिशा से सटे स्टेशनों पर अलर्ट जारी किया गया है.

ये खबरें आप न्यूज 18 हिंदी के पॉडकास्ट में सुन रहे थे. इन्हें विस्तार से पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट हिंदी डॉट न्यूज18 डॉटकॉम पर जाएं. न्यूज 18 हिंदी के पॉडकास्ट में आज इतना ही. नई खबरों और नए अपडेट के साथ हम फिर मिलेंगे. तबतक के लिए दें विदा. नमस्कार.

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज