podcast : संसद का मॉनसून सत्र आज से, विपक्ष ने की सरकार को घेरने की तैयारी

  • July 19, 2021, 11:07 am

नई दिल्ली. आप सुनना शुरू कर चुके हैं न्यूज18 हिंदी का पॉडकास्ट. स्वीकार करें मेरा नमस्कार. दोस्तो, आज सुबह से ही दिल्ली एनसीआर में मॉनसून की बारिश हो रही है, मौसम सुहाना है और आज से ही संसद का मॉनसून सत्र शुरू हो रहा है, जो 13 अगस्त तक चलेगा. इस बीच अफगानिस्तान में मारे गए फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी का शव रविवार को काबुल से दिल्ली लाया गया और जामिया मिल्लिया इस्लामिया के कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया. हरियाणा के गुरुग्राम में धराशायी हुई तीनमंजिला इमारत की भी खबर होगी आज के पॉडकास्ट में. साथ ही हम आपको बताएंगे पंजाब कांग्रेस का हाल जहां नवजोत सिंह सिद्धू को तत्काल प्रभाव से पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया गया है. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने दिल्ली में कांवड़ यात्रा रद्द कर दिया है. इन खबरों के अलावा आज के पॉडकास्ट में हम आपको बताएंगे कि ममता बनर्जी दिल्ली दौरे की बात, केंद्र के एक फैसले से क्या संकट उठ खड़ा हुआ मध्य प्रदेश सरकार के सामने और अयोध्या में राम मंदिर के नाम पर पैसे उगाही का आरोप किस महंत ने किस महंत पर लगाया. फिलहाल चलें, पहली खबर की ओर.



संसद का मॉनसून सत्र आज से शुरू होने जा रहा है. संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही 13 अगस्त तक चलेगी. दोनों सदनों की बैठक सुबह 11 बजे शुरू होगी. सरकार मॉनसून सत्र के दौरान कई विधेयक पारित कराने के एजेंडे के साथ सदन में जाएगी. वहीं, विपक्ष भी कोविड-19 की दूसरी लहर से निपटने और ईंधन की कीमतों में वृद्धि के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है. सरकार ने इस सत्र के दौरान पेश करने के लिए 17 विधेयक सूचीबद्ध किए हैं. इनमें से तीन विधेयक हाल में जारी अध्यादेशों के स्थान पर लाए जाएंगे, क्योंकि नियम है कि संसद सत्र शुरू होने के बाद अध्यादेश के स्थान पर विधेयक को 42 दिनों या छह सप्ताह में पारित करना होता है, अन्यथा वे निष्प्रभावी हो जाते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जुलाई को संसद के मॉनसून सत्र में कोविड-19 की स्थिति पर प्रेजेंटेशन दे सकते हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से इस बात की जानकारी दी है. सूत्रों के मुताबिक पीएम नरेंद्र मोदी 20 जुलाई को दोनों सदनों के सभी दलों के नेताओं को कोविड ​​-19 की स्थिति पर एक प्रस्तुति दे सकते हैं. सभी दलों के नेताओं से चर्चा के बाद इस प्रेजेंटेशन का समय तय होगा.

अफगानिस्तान में मारे गए फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी को जामिया मिल्लिया इस्लामिया के कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया. सिद्दीकी का पार्थिव शरीर रविवार शाम काबुल से दिल्ली लाया गया और बाद में उसे जामिया नगर स्थित उनके आवास पर ले जाया गया. यहां उनके अंतिम दर्शन करने के लिए परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों की भारी भीड़ जमा हो गई. सिद्दीकी के जनाजे को कंधा देने के लिए भी लोगों का भारी हुजूम उमड़ पड़ा. भीड़ को देखते हुए इलाके में तैनात पुलिसकर्मी लोगों से कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करने का आग्रह करते रहे. सिद्दीकी के शव को कब्रिस्तान ले जाया गया, जहां रात करीब सवा दस बजे नमाज-ए-जनाजा के बाद उन्हें सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया. उनके समाधि स्थल पर श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों का तांता लगा रहा. सिद्दीकी जामिया मिल्लिया इस्लामिया के पूर्व छात्र थे. उन्हें 2018 में समाचार एजेंसी रॉयटर के लिए काम करने के दौरान पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और बीते शुक्रवार को पाकिस्तान की सीमा से लगते अफगानिस्तान के कस्बे स्पीन बोल्दक में उनकी हत्या कर दी गई थी. हत्या के समय वह अफगान विशेष बल के साथ जुड़े थे.

हरियाणा के गुरुग्राम जिले में तीन मंजिला इमारत ढह गई है. यह हादसा जिले के फर्रूखनगर के खावसपुर में हुआ. इमारत गिरने से 12 लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है. जिला प्रशासन की तमाम टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं. हादसा रविवार शाम 7 बजकर 30 मिनट पर हुआ है. बचाव दल ने एक शख्स को जिंदा निकाल लिया है. फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. बताया जा रहा है इस इमारत में 15 से 20 लोग किराये पर रह रहे थे, जिनमें से कई अपने काम से बाहर गए थे. हालांकि, रात दस बजे तक मलबे में दबे हुए लोगों की संख्या स्पष्ट नहीं हो पाई थी. पुलिस और दमकल की टीम मलबा हटाने में जुटी हुई है.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नवजोत सिंह सिद्धू को तत्काल प्रभाव से पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है. बता दें पिछले काफी समय से राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच जारी तकरार के बाद कांग्रेस आलाकमान का यह फैसला सामने आया है. जाति समीकरण का संतुलन बनाए रखने के लिए कांग्रेस ने संगत सिंह गिलजियां, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल, कुलजीत सिंह नागरा को पंजाब इकाई का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है. दलित सिख डैनी, राहुल गांधी की पसंद हैं. वहीं संगत सिंह ओबीसी हैं, गोयल हिंदू हैं और नागरा जाट सिख हैं. सिद्धू को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने से पहले कांग्रेस की पंजाब इकाई में बैठकों का लंबा दौर चला. इस बीच पार्टी में ही कई विरोधी स्वर भी उठे, जिसमें सिद्धू को यह जिम्मेदारी न सौंपने की बात कही गई. राज्य के 11 विधायकों ने रविवार को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के समर्थन में आते हुए उन्हें जनता का सबसे बड़ा नेता बताया और पार्टी आलाकमान से उन्हें निराश नहीं करने का आग्रह किया गया था.

ये खबरें आप न्यूज 18 हिंदी के पॉडकास्ट में सुन रहे हैं. इन्हें विस्तार से पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट हिंदी डॉट न्यूज18 डॉटकॉम पर जाएं.

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने दिल्ली में कांवड़ यात्रा का आयोजन रद्द कर दिया है. यह फैसला उसने कोविड-19 के मद्देनजर किया. आपको बता दें कि इससे पहले उत्तराखंड की सरकार ने भी कोरोना संक्रमण के मद्देनजर कांवड़ यात्रा रद्द करने का फैसला किया था. उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने इस फैसले के साथ कहा था कि कांवड़ यात्रा से ज्यादा जरूरी अपने राज्य के लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाना है. शनिवार को ही उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इस साल की कांवड़ यात्रा रद्द करने का फैसला किया है. इस बीच राजधानी दिल्ली से एक बेहतर खबर सामने आई है कि पिछले 24 घंटे में राजधानी में कोरोना संक्रमण से एक भी मरीज की जान नहीं गई है. रविवार को जारी हुए पिछले 24 घंटे की कोरोना रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में कोरोना संक्रमण के सिर्फ को 51 नए मरीज सामने आए हैं. वहीं एक दिन में करीब 80 लोग कोरोना को हराकर स्वस्‍थ हो गए हैं.

बंगाल की मुख्यमंत्री 25 जुलाई को दिल्ली आनेवाली हैं. बताया जा रहा है कि दिल्ली में वे विपक्ष के कई नेताओं से मुलाकात करेंगी. संभावना जताई जा रही है कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और शरद पवार से ममता बनर्जी मुलाकात कर सकती हैं. हालांकि सबकी निगाहें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए विपक्षी पार्टियों के बीच गठबंधन की संभावनाओं पर हैं. बताया यह भी जा रहा है कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने समय दिया तो बंगाल की मुख्यमंत्री उनसे भी मुलाकात कर सकती हैं. ममता का दिल्ली दौरा ऐसे समय हो रहा है, जब कोलकाता हाईकोर्ट बंगाल चुनाव के बाद हुई हिंसा से जुड़े मामलों की सुनवाई कर रहा है. बंगाल हिंसा पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, "बंगाल में कानून का राज नहीं है, बल्कि सत्ताधारी पार्टी का शासन है."

केंद्र की मोदी सरकार के एक फैसले ने मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के लिए परेशानी खड़ी कर दी है. मोदी सरकार के फैसले को आधार बनाकर मध्य प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों ने अब सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. केंद्र सरकार की ओर से केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 28 फीसदी किए जाने के बाद अब मध्य प्रदेश में भी कर्मचारियों की ओर से डीए में बढ़ोतरी की मांग उठने लगी है. यहां तक कि मंत्रालय कर्मचारी संघ ने तो आंदोलन का रास्ता अख्तियार कर लिया है. मध्य प्रदेश मंत्रालय कर्मचारी संघ ने 20 जुलाई को इस मांग को लेकर मंत्रालय वल्लभ भवन में धरना देने का ऐलान किया है.

रामलला के नाम पर जुटाया गया धन श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सौंपे जाने की आवाज अब अयोध्या में उठने लगी है. अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने कहा कि जानकी घाट पीठाधीश्वर महंत जन्मेजय शरण ने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास बनाया था. इस ट्रस्ट में मंदिर निर्माण के लिए राम भक्तों ने पैसा दिया था. महंत परमहंस दास ने कहा कि इस न्यास द्वारा जुटाए गए पैसे अब श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सौंपे जाने चाहिए. तपस्वी छावनी के महंत जगत गुरु परमहंस दास ने गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अयोध्या के जिलाधिकारी के नाम एक पत्र स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजा है. पत्र में परमहंस दास ने आरोप लगाया है कि श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के नाम पर जानकी घाट पीठाधीश्वर जन्मेजय शरण ने ट्रस्ट बनाया और इस ट्रस्ट में रामभक्तों से करोड़ों रुपये जुटाए हैं. परमहंस दास ने महंत जन्मेजय शरण पर राम मंदिर निर्माण के नाम पर पिछले कई वर्षों से रामभक्तों से ठगी किए जाने का आरोप भी लगाया है.

ये खबरें आप न्यूज 18 हिंदी के पॉडकास्ट में सुन रहे थे. इन्हें विस्तार से पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट हिंदी डॉट न्यूज18 डॉटकॉम पर जाएं. न्यूज 18 हिंदी के पॉडकास्ट में आज इतना ही. नई खबरों और नए अपडेट के साथ हम फिर मिलेंगे. तबतक के लिए दें विदा. नमस्कार.

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज