अपना शहर चुनें

  • No filtered items

राज्य

Podcast: जब 1008 रन बनाकर भी नहीं मिली जीत, लगे 19 'शतक', बना सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड

  • March 11, 2022, 4:57 pm

Sports Podcast: क्रिकेट में कुछ असंभव नहीं. तभी तो इस खेल में 1000 से ज्यादा रन बनाकर भी टीम हार जाती है. न्यूज18 हिंदी के पॉडकास्ट में आज हम एक ऐसे ही मैच का किस्सा लेकर आए हैं. जिसमें 19 'शतक' लगे और 2300 से ज्यादा रन बने. यह आज भी प्रथमश्रेणी क्रिकेट में एक मैच में सबसे अधिक रन का रिकॉर्ड है. इस मैच में 3 बल्लेबाजों ने दोनों पारियों में शतक लगाए थे.



क्रिकेट की डिक्शनरी में असंभव शब्द नहीं है. लाइव मैच से इतिहास के पन्ने तक हर जगह इस बात के सबूत आसानी से मिल जाते हैं. क्रिकेट में अक्सर कुछ ऐसा घटता है, जो कल्पना से परे होता है. कभी एक ओवर में 6 छक्के लग जाते हैं, तो कभी पूरी टीम 25-30 रन भी नहीं बना पाती. और कभी एक टीम हजार रन बनाकर भी 354 रन से हार जाती है. मैं विजय प्रभात आज ऐसा ही क्रिकेट का किस्सा लेकर आया हूं. जिसमें 2300 से ज्यादा रन बने, जिसमें 19 शतक बने. जिसमें 3 बल्लेबाजों ने दोनों पारियों में शतक बनाए.

1949 में 11 मार्च को बॉम्बे और महाराष्ट्र (Bombay vs Maharashtra) के बीच एक मैच शुरू हुआ. पुणे में खेला गया यह मैच रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) का सेमीफाइनल था. दोनों टीमों की यह जोर-आजमाइश स्कोरकार्ड में बखूबी दर्ज है. सात दिन चले इस मैच में 2,376 रन बने. 707.2 ओवर के इस खेल में विकेट गिरे 38.

इस ऐतिहासिक मैच में बॉम्बे ने पहले बैटिंग करते हुए 651 रन बनाए. इसके जवाब में महाराष्ट्र ने 407 का स्कोर बनाया. इस तरह बॉम्बे को पहली पारी में 244 रन की बढ़त मिली. बॉम्बे ने पहली पारी की तरह दूसरी पारी में भी बेशुमार रन बनाए. उसने मैच के छठे दिन जब अपनी दूसरी पारी घोषित की तो उसका स्कोर 8 विकेट पर 714 रन हो चुका था. इस तरह महाराष्ट्र को जीत के लिए 959 रन का लक्ष्य मिला. महाराष्ट्र की टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए 177.3 ओवर में 604 रन बनाकर आउट हो गई.

महाराष्ट्र ने इस मैच में कुल 1008 रन बनाए. इसके बावजूद वह 354 रन से हार गया. इस मैच में बल्लेबाजों ने कुल 9 शतक बनाए और 10 अनचाहे शतक गेंदबाजों के नाम दर्ज हैं. मैच में बने कुल 2376 रन आज भी प्रथमश्रेणी क्रिकेट में एक मैच में सबसे अधिक रन का रिकॉर्ड है.

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज