Podcast: T-20 World Cup में भारत-विंडीज बने उलटफेर का शिकार, पाकिस्तान ने रचा इतिहास

  • October 25, 2021, 7:16 pm

एक ओर, 29 सालों से शिकस्‍त झेल रहे पाकिस्‍तान ने इस साल दुबई में इतिहास रच दिया, तो दूसरी तरफ शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए मैच में श्रीलंका ने बांग्लादेश को 5 विकेट से हरा दिया. वहीं, शनिवार को खेले गए पहले मैच डिफेंडिंग चैंपियन में वेस्टइंडीज़ का प्रदर्शन बेहद निराशाजन रहा और बैडमिंटन में दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु डेनमार्क ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट से बाहर हो गई.



नमस्कार….न्यूज़18 हिन्दी पॉडकास्‍ट के वीकली स्पोर्ट्स बुलेटिन में आपका स्वागत है. मैं हूं नवीन श्रीवास्तव. शुरूआत करते हैं टी-20 विश्वकप के साथ.

टी-20 विश्वकप के इतिहास में पहली बार भारत को पाकिस्तान के विरूद्ध हार का सामना करना पड़ा. पिछले 29 वर्षों के दौरान यह पहला मौका है जब पाकिस्तान को जीत नसीब हुई है. खैर रिकार्ड कभी न कभी टूटते हैं और हार-जीत खेल का एक हिस्सा है, लेकिन जिस तरह से भारत यह मैच एकतरफा दस विकेट से हारा, उससे प्रशंसकों को बहुत निराशा मिली.  टीम इंडिया मैच के दौरान कभी भी पाकिस्तान पर हावी नज़र नहीं आई, पाकिस्तान ने बैटिंग, बॉलिंग व फिल्डिंग हर क्षेत्र में  भारत से बाज़ी मारी.

रविवार को दुबई में खेले गए टी-20 विश्व कप 2021 के सुपर 12 स्टेज में ग्रुप-2 के महा मुकाबले में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और रोहित शर्मा बिना खाता खोले बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ शाहीन शाह अफरीदी के पहले ही ओवर में एक अंदर आती गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए. सलामी बल्लेबाज़ केएल राहुल भी अफरीदी की गेंदों पर संघर्ष करते नज़र आए और अंततः शाहीन अफरीदी ने ही अपनी एक तेज़ अंदर आती गेंद पर बोल्ड करके उन्हें अपना शिकार बनाया.

दो विकेट जल्दी गिरने के बाद भी कप्तान विराट कोहली दबाव में नहीं आए और आत्मविश्वास के साथ बल्लेबाज़ी करते दिखे. सूर्यकुमार यादव  कोहली का अधिक साथ नहीं दे सके और केवल 11  रन बनाकर पैवेलियन लौट गए. उन्हें हसन अली ने विकेट के पीछे रिज़वान के हाथों कैच कराया. इसके बाद बल्लेबाज़ी करने आए रिषभ पंत ने कुछ अच्छे हाथ दिखाए और कप्तान विराट कोहली के साथ चौथे विकेट के लिए तेज़ी से महतत्वपूर्ण 53 रनों की साझेदारी की.

इस पार्टनशिप की  वजह से ही भारतीय टीम निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट पर 151 रनों का एक सम्मानजनक स्कोर  बनाने में सफल रही.  रिषभ पंत ने 30 गेंदों में दो चौके और दो छक्के की मदद से 39 रन बनाए. एक बार फिर हार्दिक पंड्या ने बल्ले से निराश किया और वे मात्र 11 रन ही बना सके. रवींद्र जडेजा  13 रन बनाकर आउट हुए. विराट कोहली ने 57 रनों की शानदार अर्द्धशतकीय पारी खेली, लेकिन जल्दी-जल्दी विकेट गिरने के कारण वे बहुत अच्छी स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाज़ी नहीं कर सके.

शाहीन अफरीदी तीन विकेट लेकर पाकिस्तान के सबसे कामयाब गेंदबाज़ रहे. हसन अली थोड़े मंहगे ज़रूर साबित हुए लेकिन दो विकेट भी चटकाए. जब जीत के लिए मिले 152 रनों के लक्ष्य को लेकर पाकिस्तान ने बल्लेबाज़ी शुरू की तो किसी को भी ये अंदाज़ा नहीं रहा होगा कि यह लक्ष्य पाकिस्तान इतने आसानी से और बिना विकेट खोए ही प्राप्त कर लेगा वो तेरह गेंदे बाक़ी रहते. पाकिस्तान के दोनों सलामी बल्लेबाज़ों मोहम्मद रिज़वान और बाबर आज़म ने भारतीय गेंदबाज़ों की ठीली गेंदबाज़ी का भरपूर फ़ायदा उठाया.

दोनों ने पहले विकेट के लिए 152 रनों की शानदार साझेदारी कर पाकिस्तान को ऐतिहासिक जीत दिला दी. इस मुकाबले में भारतीय आक्रमण बेहद साधारण दिखाई दिया और शुरू से ही पाक सलामी बल्लेबाज़ों के सामने भारतीय गेंदबाज़ दबाव में रहे. रवींद्र जडेजा को छोड़कर भारत का कोई  भी गेंदबाज़ सटीक गेंदबाज़ी नहीं कर सका. भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और वरुण चक्रवर्ती ने अधिकतर शार्टपिच गेंदों के साथ बल्लेबाज़ों को स्ट्रोक लगाने के लिए जगह भी और स्ट्रोक लगाने का मौका.

इसका बाबर आज़म और रिज़वान ने भरपूर लाभ उठाया. मोहम्मद रिज़वान ने मात्र 55 गेंदों में नाबाद 79 रनों की शानदार आतिशी पारी खेली, जिसमें उन्होंने 6 चौके और 3 छक्के लगाए. कप्तान बाबर आज़म 52 गेंदों में 68 रन बनाकर नाबाद रहे. उनकी पारी में 6 चौके और 2 छक्के शामिल थे.  बाबर और रिजवान की पारी में फुटवर्क, प्लेसमेंट, टाइमिंग और शॉर्ट सलेक्शन देखने लायक था.

दोनों सलामी बल्लेबाज़ों के बीच हुई 152 रनों की अविजित साझेदारी भारत के खिलाफ टी-20 क्रिकेट में किसी भी विकेट के लिए सर्वाधिक रनों की भागीदारी  है.  इससे पहले पाकिस्तान के लिए भारत के खिलाफ क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड मोहम्मद हफीज़ और शोएब मलिक के नाम था. दोनों ने 2012 में अहमदाबाद में चौथे विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी की थी. भारत ने वर्ल्ड कप में 1992 के बाद इस मैच से पहले तक सभी 12 मैचों में , जिसमें सात वनडे और पांच टी-20 शामिल है. उसमें जीत हासिल की थी.

इस मैच में विराट कोहली टी20 विश्व कप में 10वां अर्द्धशतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं. उन्होंने क्रिस गेल के नौ अर्द्धशतक के रिकॉर्ड को को तोड़ा.

उधर सुपर 12 स्टेज में ग्रुप-1 के तहत रविवार को शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए मैच में श्रीलंका ने बांग्लादेश को 5 विकेट से हराया. श्रीलंका ने जीत के लिए मिले 172 रनों का लक्ष्य चरिथ असालंका की मात्र 49 गेंदों में नाबाद 80 रनों की विस्फोटक अर्द्धशतकीय पारी की बदौलत 7 गेंद शेष रहते पांच विकेट खोकर प्राप्त कर लिया.  श्रीलंका ने अपनी पारी में 5 चौके और 5 छक्के लगाकर दर्शकों को रोमांचित कर दिया.  भानुका राजपक्षे ने 31 गेंदों पर 3 चैके और 3 छक्के की मदद से 53 रनों की शानदार व निर्णायक पारी खेली.

इस मुकाबले में दो विकेट लेने के साथ ही बांग्लादेश के हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन टी20 विश्व कप के इतिहास में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए.  शाकिब ने पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी को पीछे छोड़ा. शाकिब ने इस मैच से पहले टी-20 विश्व कप के 28 मैचों में 39 विकेट लिए थे. अब उनके 41 विकेट हो गए हैं. इसके पहले अफरीदी ने 34 मैचों में 39 विकेट लिए थे.  वर्तमान गेंदबाज़ों  में टी-20 वर्ल्ड कप में अबतक किसी ने भी 30 से ज्यादा विकेट नहीं लिए हैं.

टी-20 वर्ल्ड कप सुपर 12 स्टेज के तहत शनिवार को खेले गए पहले मैच डिफेंडिंग चैंपियन वेस्टइंडीज़ का प्रदर्शन बेहद निराशाजन रहा. इस मैच में वेस्टइंडीज़ को इंग्लैंड ने छह विकेट से हराया.  इस मुकाबले में वेस्टंडीज की पारी सिर्फ 15 ओवरों का सामना करके मात्र 55 रन जोड़कर धराशायी हो गई. आदिल रशीद और मोइन अली  की फिरकी में कैरेबियन  बल्लेबाज लगातार उलझाते चले गए.आदिल रशीद ने चार और मोइन अली ने दो विकेट चटकाए.

जीत के लिए मिले 56 रनों का लक्ष्य हासिल करते-करते इंग्लैंड ने भी अपने चार विकेट गवां दिए. जोस बटलर सबसे अधिक 24 रन बनाकर अंत तक नाबाद रहे. वेस्टइंडीज की ओर से लेफ्टआर्म स्पिनर अकील हुसैन दो विकेट लेकर सबसे कामयाब गेंदबाज़ रहे. 55 रन वेस्टइंडीज का टी-20 में दूसरा न्यूनतम  स्कोर है. वेस्टइंडीज़ का न्यूनतम टी-20 स्कोर 45 रन है, जो 2019 में इंग्लैंड के खिलाफ ही बना था. टी-20 वर्ल्ड कप में यह 39 और 44 , दोनों नीदरलैंड के बाद तीसरा न्यूनतम स्कोर है.

सुपर 12 स्टेज में ग्रुप-1 के मैच में आस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका को पांच विकेट से हराया.

और अंत में बैडमिंटन… दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु डेनमार्क ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट से बाहर हो गई हैं. कुछ अंतराल के बाद वापसी करने वाली पीवी सिंधु को डेनमार्क ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में कोरिया की अन सियंग ने सीधे गेमों में 21-11 व 21-12 से हराया.  इससे पहले दुनिया में 28वें नंबर के खिलाड़ी भारत के समीर वर्मा ने ज़बर्दस्त खेल दिखाते हुए दुनिया के नंबर तीन खिलाड़ी एंडर्स एंटोनसेन को सीधे गेम में 21-14 व 21-18 हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया.  जबकि लक्ष्य सेन हारकर बाहर हो गए.

न्यूज़ 18 हिन्दी पॉडकास्ट के साप्ताहिक स्पेशल स्पोर्ट्स बुलेटिन में आज इतना ही. ताजातरीन खेल खबरों और नए ऐपिसोड के साथ हम आपसे फिर मुख़ातिब होंगे. तब के लिए नवीन श्रीवास्तव को इजाज़त  दीजिए. नमस्कार.

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज