राज्य

'85 हजार करोड़ खर्च कर राजस्थान को बनाया शिक्षा में अग्रणी, चौथे स्थान पर पहुंचा'

राजस्थान के शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि पिछले चार सालों में राज्य में आदर्श, उत्कृष्ट और स्वामी विवेकानंद विद्यालयों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया गया है.

News18Hindi
Updated: November 24, 2017, 6:53 PM IST
'85 हजार करोड़ खर्च कर राजस्थान को बनाया शिक्षा में अग्रणी, चौथे स्थान पर पहुंचा'
राजस्थान के शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी(फाइल फोटो).
News18Hindi
Updated: November 24, 2017, 6:53 PM IST
राजस्थान के शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि पिछले चार सालों में राज्य में आदर्श, उत्कृष्ट और स्वामी विवेकानंद विद्यालयों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया गया है. राज्य सरकार का प्रयास है कि इसी तर्ज पर प्रदेश के सभी विद्यालय ‘सेंटर ऑफ एक्सीलेंस’ के रूप में विकसित हों.

मंत्री देवनानी शुक्रवार को शिक्षा संकुल में राज्य सरकार के चार वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर मीडिया से संवाद कर रहे थे. उन्होंने कहा कि प्रदेश के विद्यालयों में स्टार रैंकिग की हम पहल करने जा रहे हैं. इसके अंतर्गत गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में श्रेष्ठतम के आधार पर विद्यालयों को स्टार रैंकिंग प्रदान की जाएगी.

उन्होंने कहा कि स्टाफ पैटर्न की हम समीक्षा कर रहे हैं, प्रयास किया जाएगा कि विद्यालय में छात्र अनुपात में सभी स्थानों पर समुचित शिक्षक पदस्थापित हों.

शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि आगामी सत्र से प्रदेश में शैक्षिक गुणवत्ता के लिए ‘स्टेट एजूकेशन रिसर्च ट्रेनिंग सेंटर’ की स्थापना की जाएगी. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में स्टूडियो की स्थापना होगी ताकि विडियो कॉन्फ्रेन्स के तहत राज्यभर से इसका जुड़ाव रहे. शैक्षिक गुणवत्ता के लिए हमने कक्षा एक से 8 तक विद्यालयों में लर्निंग लेवल तय किए हैं. राजस्थान प्राथमिक शिक्षा परिषद् और रमसा को एकीकृत करके प्रदेश में शिक्षा का और अधिक प्रभावी विकास किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले चार वर्षों में नवाचारों को अपनाते हुए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध रहते हुए 85 हजार करोड़ रुपए बजट व्यय कर प्रदेश को शिक्षा क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने की पहल की है. इसी से हाल के आए राष्ट्रीय सर्वे में कभी 18वें स्थान पर रहने वाला राजस्थान आज शिक्षा क्षेत्र में चौथे स्थान पर आ गया है.

उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्ष शिक्षा में बेहतरीन विकास के रहे हैं. राष्ट्रीय सर्वेक्षण में और 'असर' की रिर्पोट में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में राजस्थान जहां पहले नम्बर पर रहा है वहीं भारत सरकार द्वारा ]स्वच्छ विद्यालय' योजना के अंतर्गत भी देशभर में राजस्थान आंध्रप्रदेश और तमिलनाडू के बाद तीसरे स्थान पर रहा.

सरकारी विद्यालयों का परीक्षा परिणाम निजी विद्यालयों से आगे निकला. बालिका शिक्षा में राजस्थान अग्रणी हुआ और 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने पर मिलने वाले गार्गी पुरस्कार की संख्या में भी इन प्रयासों के कारण तीन गुना तक वृद्धि हुई. आज 1 लाख 46 हजार बालिकाओं को यह पुरस्कार दिया जा रहा है.
    पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

    वोट करने के लिए संकल्प लें

    बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
    • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

    • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

      Please check above checkbox.

    • SUBMIT

    संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

    जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
    आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

    ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

    डिस्क्लेमरः

    HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
    ARN EU/04/19/13626

    News18 चुनाव टूलबार

    • 30
    • 24
    • 60
    • 60
    चुनाव टूलबार