लाइव टीवी
Elec-widget
होम » शो »हम तो पूछेंगे

HTP : क्या तीसरे मोर्चे के गठन से 2019 में PM मोदी की जीत की राह आसान होगी?

December 24, 2018, 10:56 pm

हैदराबाद से कोलकाता तक जारी सियासी हलचल क्या राहुल के सपने पर ग्रहण साबित होगी? आज कोलकाता में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के बीच मुलाकात हुई. मुलाक़ात के बाद चंद्रशेखर राव ने बेझिझक बताया कि कांग्रेस और BJP के बगैर वो एक तीसरा मोर्चा बनाने की कोशिश कर रहे हैं. मिशन 2019 के लिए महागठबन्धन बनाने की कोशिश कर रही कांग्रेस को ये बड़ा झटका साबित हो सकता है. चंद्रशेखर राव कल ही ओड़िसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाक़ात कर चुके हैं. इन तीनों मुख्यमंत्रियों का ये ऐसा गढ़ है जहां 2014 में मोदी लहर में भी इनके क़िलों का बाल-बाँका नहीं हो पाया. इन तीनों के राज्यों में लोकसभा की 80 सींटें हैं. अगर तीसरा मोर्चा आकार लेता है तो इसमें 80 सीटों वाला UP भी शामिल हो सकता है. जानकारों का मानना है कि इस मोर्चे में SP-BSP शामिल हो सकती है. यानी लोकसभा के संख्या के हिसाब से कम से कम ये गठबंधन 160 सीटों का गठबन्धन साबित हो सकता है. इन 160 सीटों में से अगर इस मोर्चे ने सौ सीटें भी जीत ली तो 2019 में सत्ता की चाबी इनके पास हो सकती है. ऐसे में महागठबन्धन की स्थिति इसके सामने क्या रह जाएगी, समझा जा सकता है.

प्रीति रघुनंदन
Latest Live TV Switch to Regional Shows

LIVE Now

    Loading...